alok-sanjar-left-government-house-not-gets-ticket-by-bjp

भोपाल।

बीजेपी ने इस बार भोपाल लोकसभा से मौजूदा सांसद आलोक संजर का टिकट काट कट्टर हिन्दूवादी छवि वाली साध्वी प्रज्ञा को अपना उम्मीदवार बनाया है। साध्वी का मुकाबला कांग्रेस के दिग्गज नेता दिग्विजय सिंह से होना है। दोनों ने अपना नामांकन भर दिया है और अब एक दूसरे को टक्कर देने मैदान में है। वही टिकट कटने के बाद वर्तमान सांसद आलोक संजर ने लोकसभा चुनाव से पहले ही अपना बंगला खाली कर सबको चौंका दिया है।चारों तरफ उनके यूं चुनाव से पहले बंगला खाली करने की चर्चाएं जोरों पर है।

दरअसल, भोपाल लोकसभा सीट से सांसद आलोक संजर ने बीजेपी से टिकट न मिलने के बाद सरकारी आवास (बी-19, 74 बंगला)खाली कर दिया है। इसके साथ ही वह अपने 12 नंबर स्टॉप के समीप रेलवे हाउसिंग सोसायटी स्थित  निजी आवास में शिफ्ट हो गए हैं। मौजूदा सांसद के टिकट कटने के बाद सरकारी बंगला खाली करने का यह संभवत: पहला उदाहरण है। 

जब उनसे चुनाव से पहले यूं बंगले खाली करने का कारण पूछा गया तो संजर ने कहा मैंने दो दिन पहले मुझे आवंटित किया गया सरकारी बंगला खाली कर दिया है।सरकारी बंगला खाली करने का प्लान तो एक साल पहले ही बन गया था। मेरे स्वयं के घर में पहले कंस्ट्रक्शन चल रहा था, जो अब पूरा हो गया है, इसल‍िए मैंने बंगला खाली कर द‍िया है।वह जब उनसे पूछा गया कि अगर आपको दोबारा ट‍िकट म‍िलता तो क्या तब भी ऐसा करते, इस पर उन्होंने कहा कि यद‍ि दोबारा ट‍िकट म‍िलता और मैं सांसद बन भी जाता, तो भी सरकारी आवास खाली कर देता। मुझे अपनी मां के साथ घर पर रहना है। वह अकेले रहकर परेशान रहती थीं। अब तो सरकारी बंगले पर 4 गाय बची हैं, वह भी ले आएंगे।

इधर पार्टी ने साध्वी की जिम्मेदारी सौंपी

वही दूसरी तरफ पार्टी ने वर्तमान सांसद आलोक संजर के टिकट काटने के बाद उन्हें अब प्रज्ञा ठाकुर के जनसंपर्क की ज़िम्मेदारी सौंप दी है।अब संजर साध्वी के जनसंपर्क में उनकी मदद करेंगें। वहीपूर्व सीएम शिवराज सिंह चौहान को साध्वी के चुनाव प्रचार अभियान की कमान संभालने को कहा गया है। 

बता दें आलोक संजर ने लोकसभा चुनाव 2014 में कांग्रेस के उम्मीदवार और वर्तमान में प्रदेश के जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा को 3.60 लाख से अधिक मतों से पराजित किया था।इस बार पार्टी ने साध्वी प्रज्ञा को मैदान में उतारा है उनका मुकाबला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह से है।