‘कर्जमाफी’ में गड़बड़ी पर शिकंजा, फर्जी किसानों के नाम पर राशि निकाली तो होगी कानूनी कार्रवाई

amount-to-be-taken-in-the-name-of-fake-farmers-will-be-legal-action

भोपाल। किसानों के कर्जे माफ़ करने के लिए सरकार ने जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना कि शुरुआत की, जिसके अंतर्गत कर्जमाफी की प्रक्रिया चल रही है| लेकिन जिस तरह की धांधलियां सामने आई है, इससे हड़कंप मच गया है| मुख्यमंत्री ने आशंका जताई है कि यह पिछली सरकार में किसानों के नाम पर बड़ा फर्जीवाड़ा किया गया है और यह घोटाला दो से तीन हजार करोड़ का हो सकता है| वहीं गड़बड़ी की जांच की जा रही है| वहीं दोषियों पर सीधे कानूनी कार्रवाई की जायेगी| 

सरकार के पास जानकारी आई है कि प्राथमिक कृषि सहकारी साख समितियों में किसानों की जानकारी के बिना उनके नाम से फर्जी प्रकरण बनाकर फसल ऋ ण के नाम पर राशि गबन करने के प्रयास हुए हैं। इस पर सरकार ने सख्ती शुरू कर दी है| प्रमुख सचिव, किसान कल्याण तथा कृषि विकास डॉ. राजेश राजौरा ने कहा कि ऐसे प्रकरण गंभीर अपराध की श्रेणी में माने जाएंगे। इन प्रकरणों में सहकारिता अधिनियम एवं आईपीसी की धाराओं में सभी दोषियों के विरुद्घ अनुशासनात्मक वैधानिक कार्यवाही की जाएगी। जय किसान फसल ऋ ण माफी योजना के अन्तर्गत नियत कट ऑफ डेट के बकायादार (रेग्यूलर आउट स्टेंडिंग लोन अथवा कालातीत लोन) किसानों की सूची ग्राम पंचायतों में 15 जनवरी से चस्पा की जा रही है। योजनांतर्गत आवेदन की अंतिम तिथि 5 फरवरी निर्धारित है।  

फसल ऋण माफी के लिये 80.32% किसानों ने जमा किये आवेदन

राज्य शासन की ओर से जारी जानकारी के अनुसार प्रदेश  में जय किसान फसल ऋण माफी योजना में 29 जनवरी की शाम तक 80.32% किसानों ने आवेदन जमा किये हैं। योजना के तहत कुल 55 लाख 61 हजार 712 ऋण खाता धारक किसानों में से 44 लाख 67 हजार 40 ऋण खाता धारक किसानों द्वारा ऋण माफी के लिये आवेदन भरे गये। प्राप्त जानकारी के अनुसार कुल 29 लाख 61 हजार 84 हरे ऋण खातों में से 24 लाख 18 हजार 295 किसानों द्वारा आवेदन भरे गये हैं, जो 81.6% है। किसानों के 26 लाख 628 सफेद ऋण खातों में 16 लाख 93 हजार 822 किसानों ने आवेदन भरे हैं, जो 65.13% है। अब तक किसानों द्वारा कुल 3 लाख 54 हजार 929 गुलाबी आवेदन भरे गये हैं, जोकुल भरे गये 44 लाख 67 हजार 40 आवेदनों का 7.9% है।

किसानों की समस्याओं के निराकरण के लिए कंट्रोल रूम स्थापित

भोपाल जिले में जय किसान फसल ऋ ण माफी योजनांतर्गत किसानों की शिकायत व समस्या के निराकरण के लिए कलेक्ट्रेट परिसर में स्थित उप संचालक कृषि कार्यालय में कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। कंट्रोल रूम में किसान भाईयों की शिकायतों को पंजी में नोट किया जाएगा तथा उनकी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। उप संचालक कृषि ने बताया कि कंट्रोल रूम में कृष्णा जाटव मोबाइल नंबर 9399312614, मुक्ता सोनी 9907218123, सुनील मीणा- 9752639325, दिनेश राजपूत 9977081348, प्रियंका पटेल 9993984784 सहित विभिन्न सहायकों की ड्यूटी लगाई लगाई है। कंट्रोल रूम का दूरभाष नंबर 0755-2542829 है। कंट्रोल रूम में किसान भाई प्रातः 9 बजे से रात्रि 9 बजे तक अपनी समस्याएं अथवा शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।