कमलनाथ सरकार का एक और मास्टर स्ट्रोक, संविदाकर्मियों को मिलेगा तोहफा

Another-master-stroke-of-Kamalnath-government-now-a-big-announcement-made-for-contractual-workers

भोपाल। लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस ने जोरों शोरों से तैयारियां शुरु कर दी। किसानों के बाद अब कांग्रेस का फोकस कर्मचारियों पर है। कांग्रेस कर्मचारियों को खुश करने में जुट गई है। इसी के चलते कांग्रेस ने फैसला किया है कि वह दलितों, किसानों और कार्यकर्ताओं के बाद कर्मचारियों पर लगे केस वापस लेगी। इसके साथ ही शिवराज सरकार में नौकरी से निकाले गए संविदाकर्मचारियों को भी वापस नौकरी दी जाएगी। साथ ही उन्हें मानदेय भी बढ़ाकर दिया जाएगा। लोकसभा चुनाव से पहले सरकार यह फैसला लेगी, गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा है कि सरकार इस सम्बन्ध में तैयारी कर रही है| 

दरअसल, मीडिया से चर्चा के दौरान गृहमंत्री बाला बच्चन ने कहा कि लोकसभा चुनाव से पहले धरना प्रदर्शन करने वाले कर्मियों पर लगे केस वापस लिए जाएंगे। संविदा कर्मचारियों को नियमित कर नियमित कर्मचारियों के तहत 90 फ़ीसदी भत्ता दिया जाएगा । इसके साथ ही नौकरी से निकाले गए संविदा कर्मचारियों को नौकरी में वापस लिया जाएगा और यह फैसला लोकसभा चुनाव से पहले किया जाएगा| 

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चुनाव से पहले संविदा कर्मचारियों को नियमित करने और निकाले गए संविदा कर्मचारियों का वापस नौकरी पर रखने का वादा किया था। कमलनाथ ने संविदा कर्मचारियों को भरोसा दिलाया था कि कांग्रेस की सरकार आते ही उनके भविष्य को सुरक्षित किया जाएगा।अब कांग्रेस अपने वादे को पूरा करने जा रही है। देखना होगा कि लोकसभा चुनाव से पहले संविदा कर्मी नियमित हो पाएंगे या नहीं, क्यूंकि यह प्रक्रिया लम्बी है| 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here