‘कोरोना के खिलाफ नवांकुर की सुरीली जंग’ में ‘अर्चना खरे’ की शानदार प्रस्तुति

567

लॉकडाउन (Lockdown) के बीच इन दिनों लोग घर बैठे भी एक से एक दिग्गज हस्तियों की प्रस्तुतियों का आनद ले रहे हैं| नवांकुर सांस्कृतिक संस्था द्वारा “कोरोना के खिलाफ नवांकुर की सुरीली जंग” शीर्षक से एक जागरूकता अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के माध्यम से नवांकुर द्वारा सप्ताह में दो अथवा तीन बार देश के विभिन्न हिस्सों से प्रतिष्ठित गायकों को आग्रह कर उनका लाइव कार्यक्रम नवांकुर के फेसबुक पेज पर प्रसारित किया जाता है । इसी के तहत नई प्रतिभाओं को सामने लाने एक श्रृंखला ‘सरगम का सफर’ शुरू किया गया है| जिसमे 2 जून को नवांकुर स्कूल ऑफ़ म्यूज़िक की अत्यंत प्रतिभाशाली कलाकार सुश्री अर्चना खरे ने प्रस्तुति दी| अर्चना ने अपनी मेहनत और अपने मेंटर के मार्गदर्शन से अपनी अलग छवि बनाई है, सुगम संगीत में उनकी गायन शैली, चाहे वो फ़िल्म संगीत हो, भजन या ग़ज़लें, अप्रतिम है।

नवांकुर के इस अभियान का उददेश्य संगीत के माध्यम से कोरोना से बचाव के उपायों के प्रचार-प्रसार मे शासन द्वारा किये जा रहे प्रयासों को और मजबूती प्रदान करना है। इसके अतिरिक्त इन कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को घरों में रोके रखना और साथ ही उन्हें स्वस्थ मनोरंजन प्रदान करना भी नवांकुर का एक उद्देश्य है l इस तरह के कार्यक्रम लोगों के मन में एक सकारात्मक वातावरण उत्पन्न करते हैं और यह सकारात्मक वातावरण लोगों की इम्युनिटी पावर बढ़ाने में सहायक सिद्ध होता है|

नवांकुर के इस अभियान की विशेषता यह है कि देश के विभिन्न हिस्सों से उदयीमान और प्रतिष्ठित गायक अपने घर पर बैठे-बैठे ही नवांकुर के फेसबुक पेज पर आते हैं और अपना प्रस्तुतीकरण देते हैं। इस अभियान के अंतर्गत नवांकुर द्वारा मुंबई, दिल्ली , कोलकाता , हैदराबाद , जयपुर, कोटा, बिलासपुर एवं भोपाल सहित अन्य क्षेत्रों के लगभग 30 गायकों को आमंत्रित किया जा चुका है तथा अभियान सतत जारी है। इस कार्यक्रम की अवधारणा, संचालन तथा समन्वय नवांकुर के फाउंडर अनूप श्रीवास्तव का है।

Archana Khare द्वारा इस दिन पोस्ट की गई मंगलवार, 2 जून 2020

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here