बाबूलाल गौर की भविष्यवाणी हुई सच, यह मुस्लिम विधायक बने कैबिनेट मंत्री

arif-akeel-become-minister-in-kamalnath-cabinet

भोपाल। मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने 15 वीं विधानसभा के लिए तीन मुस्लिम प्रत्याशियों को मैदान में उतारा था। इनमें से राजधानी से दो मुस्लिम प्रत्याशी थे। राजधानी की उत्तर सीट से पांच बार के विधायक आरिफ अकील छठी बार जीते हैं। उनकी जीत के बाद पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने उनके मंत्री बनने की भविष्यवाणी की थी। आज वह सच हो गई। अकील को कमलनाथ कैबिनेट में शामिल किया गया है। वह प्रदेश के इकलौते मुस्लिम मंत्री होंगे। 

दरअसल, आरिफ अकील कांग्रेस के कद्दावर नेताओं में गिने जाते हैं। वह दिग्विजय सरकार में भी गैस राहत मंत्री रह चुके हैं। राजधानी की उत्तर विधानसभा से उन्होंने छठी बार जीत दर्ज की है। वह कमलनाथ और दिग्विजय सिंह के खास माने जाते हैं। विपक्ष में रहते हुए भी उन्होंने आमजन के मुद्दों को सदन में उठाया जो नेशनल मुद्दे के तौर पर केंद्र तक गूंजे। उनके क्षेत्र में लोग उन्हें आरिफ भाई से संबोधित करते हैं। हमेशा सफेद कुर्ते पायजामे और चप्पल में दिखने वाले अकील की सादगी के कायल कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी हैं। 

11 दिसंबर को आए नतीजों के बाद कांग्रेस विधायक अपनी जीत के बाद पूर्व मुख्यमंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर से मिलने पहुंचे थे। इस मुलाकात के दौरान बाबूलाल गौर ने उन्हें मंत्री बनने की शुभकामनाएं दी थी। हालांकि, जब कांग्रेस की सरकार भी नहीं बनी थी। लेकिन गौर के विश्वास और आशीर्वाद से अकील सरकार बनने के बाद कैबिनेट में शामिल हो गए। 

गौरतलब है कि उसके बाद आरिफ अकील भोपाल उत्तर विधानसभा सीट से लगातार 1998 से जीतते आ रहे हैं. उन्होंने अपने करियर की शुरुआत छात्र नेता के तौर पर की थी जब 1977 में वो एनएसयूआई के उपाध्यक्ष नियुक्त किए गए थे। उसके बाद लंबा वक्त बीता और 1990 में पहली बार निर्दलीय के तौर पर विधायक चुने गए। 1992 के बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद 1993 में हुए विधानसभा चुनाव में वो बीजेपी के रमेश शर्मा से हार गए थे। 1998 का विधानसभा चुनाव वो कांग्रेस के टिकट पर लड़े और इस बार उन्होंने अपनी पिछली हार का बदला बीजेपी के रमेश शर्मा को हराकर ले लिया. उसके बाद से अकील की जीत का सिलसिला जारी है।

बाबूलाल गौर की भविष्यवाणी हुई सच, यह मुस्लिम विधायक बने कैबिनेट मंत्री