एटीएम से ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गिरोह का पर्दाफाश, ऐसे लगाते थे बैंकों को चूना

2103
arrested-inter-state-gang-who-used-to-cheat-at-ATM

भोपाल|

एसटीएफ भोपाल को 100 से अधिक वारदातों को अंजाम देकर 50 लाख से अधिक बैंक एटीएम से ठगी करने वाले अंतर्राज्यीय गैंग को पकड़ने में सफलता मिली है| यह ठग गिरोंह मध्य प्रदेश के अलावा, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत अन्य राज्यों में 50 से 60 लाख की चपत कई बैंकों को लगा चुके थे| मुखबिर की सूचना पर विशेष पुलिस महानिदेशक पुरुषोत्तम शर्मा के निर्देशन में यह कार्रवाई की गई है| पुलिस ने गैंग के चार लोगों को गिरफ्तार किया है| 

विशेष पुलिस महानिदेशक पुरुषोत्तम शर्मा, अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक डॉ. अशोक अवस्थी के मार्गदर्शन में पुलिस अधीक्षक विनय प्रकाश पाल एवं पुलिस अधीक्षक राजेश भदौरिया (एसटीएफ) भोपाल को संगठित रूप से अपराधियों की धरपकड़ करने करने के लिए निर्देशित किया गया था। पुल��स अधीक्षक को बैंकों के एटीएम में हो रहे फ्रॉड तथा एटीएम में हो रही चोरी के संबंध में लगातार शिकायत प्राप्त होने पर पुलिस अधीक्षक ने चोरी करने वाले गिरोह पकडने के लिए थाना एसटीएफ भोपाल को निर्देशित किया था। इसी के चलते एसटीएफ थाना प्रभारी के द्वारा अपनी टीम को इस तरह के अपराधियों की धरपकड़ के लिए क्षेत्र में चौकन्ना रहने का निर्देश दिया था। उसी समय एसटीएफ इंदौर के एएसआई अमित दीक्षित ने एटीएम में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाली गैंग के बारे में भोपाल आने की सूचना एसटीएफ भोपाल को दी।  जिसके बाद भोपाल के पुलिसकर्मियों ने तस्दीक करना शुरू कर दिया। तस्दीक में पता चला कि 4 लड़के जो कि हरियाणा के हैं और सफेद रंग की स्विफ्ट कार में भोपाल के अशोका गार्डन क्षेत्र में हैं। ये लड़के लगातार बैंक एटीएम से चोरी की घटनाओं को अंजाम दे रहे हैं। इसके बाद इन्हे पकड़ने के लिए विभाग द्वारा पुलिस की दो टीमें एसआई भीम सिंह व आर.अवध बाथवी के नेतृत्व में बनाई गई। इस टीम ने उन्ही चार लड़कों को अशोका गार्डन क्षेत्र के अमृत कंपलेक्स में यूनियन बैंक के एटीएम से उपस्थित लोगो की मदद से पकड़ा गया। 

इन्हे किया गिरफ्तार

गिरफ्तार  किए गए चारों आरोपियों में सलीम पिता असलम मोहम्मद(25), राशिद खान पिता यूनुस खान (25), मोहम्मद नदीम पिता जमील अहमद (24), मोहित राय पिता  वेद प्रकाश राय (24) शामिल हैं। ये चारों हरियाणा के जिला मेवात अंतर्गत सलंबा तहसील के थाना नूह क्षेत्र के बताए जा रहे हैं।

अनेक एटीएम एवं एक कार बरामद 

इन चारों आरोपियों के पास से  27 विभिन्न बैंकों के एटीएम कार्ड, सभी के पास से पैन कार्ड, आधार कार्ड, वोटर कार्ड पाया गया है। ये सभी एटीएम एक्सिस बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, यूनियन बैंक, स्टेट बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, आईडीएफसी बैंक और पंजाब नेशनल बैंक के हैं।  इसके अलावा एक स्विफ्ट कार जिस पर मध्यप्रदेश की नंबर प्लेट लगाकर ये बदमाश कार को चला रहे थे। पूछताछ करने पर उन्होंने बताया कि ये 12 जून से  मध्यप्रदेश आएं हैं। मध्यप्रदेश की पुलिस परेशान ना करें इसलिए उस पर एमपी का नंबर डाल दिया।

बैंकों को ऐसे लगाते थे चूना

इन ठग गिरोह का तरीका भी अलग ही तरह का था| पूछताछ में इन्होने बताया कि यह अपने कार्ड से पैसा निकालते थे लेकिन जैसे ही पैसा निकलने लगता, हम हाथ से पकड़ कर उन रुपयों को वही रोक देते। जिससे निकलने वाला रुपया एटीएम से फंस जाता और आधा हम मजबूती से पकड़ लेते। 30 सेकंड में एटीएम मशीन की ग्रीन लाइट बंद होने पर मशीन उन रुपयों को छोड़ देती। तथा मशीन की स्क्रीन पर एरर बताने लगता और ट्रांजैक्शन कैंसिल बताने लगता। तत्काल ही हम रुपयों को एटीएम मशीन से निकाल लेते हैं | फिर एटीएम कार्ड जिन के नाम से है वही बनकर कस्टमर केयर पर शिकायत दर्ज कराते कि हमारा ट्रांसेक्शन सफल नहीं हुआ और हमें एटीएम से रुपए नहीं मिले हैं। कस्टमर केयर शिकायत दर्ज करने के बाद 5 से 7 दिन में पैसों को हमारे अकाउंट में डलवा देते। हमने भोपाल में चार एटीएम में ऐसा काम करके कस्टमर केयर में शिकायत की। आज भी हम ऐसा करने के लिए एटीएम में गए थे किंतु वहां पुलिस ने पकड़ लिया।  बैंकों से यह पता लगाया जाने के लिए पत्राचार किया जा रहा है कि इनके द्वारा इस प्रकार की कितनी घटनाएं घटित की गई है। इनके बैंक अकाउंट से जानकारी प्राप्त की जा रही है।

हरियाणा के नूह में आम हो चूकि हैं ऐसी वारदात

इनके द्वारा यह भी जानकारी दी गई कि हमारे क्षेत्र में इस प्रकार वारदात करने को कार्ड खेलना बोलते हैं। हमारे क्षेत्र के लोग इस प्रकार की काफी वारदात घटित करते हैं। इस गैंग के द्वारा 50 से 60 लाख रुपए का चूना विभिन्न बैंकों को लगा लगाया गया। चूँकि हरियाणा के नूह में यह आम हो गई है तथा बैंक वाले भी शिकायत करने के उपरांत पैसा नहीं देते इसलिए यह लोग मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, गोवा, दिल्ली, एवं उत्तरप्रदेश में जाकर इस प्रकार की घटनाओ को अंजाम दे रहे हैं। प्रमुखता है यह लोग विभिन्न राज्यों की राजधानी जैसी जयपुर, अहमदाबाद, भोपाल के एटीएम में वारदात को अंजाम देते हैं जहां सुरक्षाकर्मी आदि ना हो। बैंक एटीएम में भीड़भाड़ नहीं हो तथा आसानी से घटना घटित कर सकें।

बदमाशों को पकड़ने में इनकी रही मुख्य भूमिका

इस घटना का खुलासा करने व आरोपियों की धरपकड़ करने में प्रमुखता से सउनि श्री अमित दीक्षित एसटीएफ इंदौर तथा एसटीएफ भोपाल के उनि भीम सिंह, सउनि बिजेंद्र निगम आर.अवध बाथवी, आर. शिवराज भदौरिया, आर. मनोज मेहरा, आर. विष्णु पाल पांडे, मोहन भूरिया, सौरभ चौहान,  शंकर माली की महत्वपूर्ण भूमिका रही। मेवाती गैंग को पकड़ने के लिए पुलिस महानिदेशक द्वारा एसटीएफ टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की गई है।पकड़े गए आरोपियों से अन्य कई बदमाशों की जानकारी मिली है। इस सूचना को तस्दीक करने और कड़ी कार्यवाही करने हेतु एक दल भी नूह हरियाणा के लिए भेजा गया है। आरोपियों को न्यायालय पेश कर पुलिस रिमांड पर लिया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here