चुरहट और विंध्य में EVM को मैनेज करने का कथित ऑडियो वायरल

audio-viral-to-manage-EVM-in-Churhat-and-Vindhya

भोपाल| मध्य प्रदेश में हाल ही में संपन्न हुए विद्यानसभा चुनाव के बाद ईवीएम को लेकर जहां सवाल खड़े किये गए है, इस बीच वायरल हुए एक ऑडियो से सनसनी फेल गई है| इस ऑडियो में दो लोगों के बीच चुरहट और विंध्य क्षेत्र में ईवीएम मैनेज करने को लेकर बातचीत हो रही है| वायरल हो रहे इस ऑडियो में काम होने के बाद तत्काल अहमदाबाद रवाना होने के लिए कहा जा रहा है| एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ इस ऑडियो की सतयता की पुष्टि नहीं करता है| 

प्रदेश में नई सरकार बनने के डेढ़ माह बाद यह ऑडियो सामने आया है| जिसमे चुरहट विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 76 को मैनेज करने की बात की जा रही है| साथ ही पूरे विंध्य क्षेत्र में भी इसी तरह मैनेज करने की बात की जा रही है| हालाँकि फोन करने वाले का नाम ऑडियो में सामने नहीं आया, लेकिन जिसे फोन किया गया था उसे कौशल के नाम से पुकारा गया है| फ़ोन करने वाले ने कहा जो भी करना है बढ़ौरा से पहले कर लेना, रास्ते में ही समझ लेना, क्यूंकि हवाई पट्टी के बाद बहुत मुश्किल होगा| अधिकारियों से बात हो गई है सब बात हो गई है| पूरा विंध्य मैनेज है| इसके बाद अंत में फ़ोन करने वाले ने कहा काम होते ही अहमदाबाद पहुँच जाना| यह ऑडियो ऐसे समय सामने आया है जब पिछले दिनों पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने विंध्य में कांग्रेस को हुए नुकसान के बाद चुनाव नतीजों को लेकर शंका जाहिर की थी| उन्होंने विंध्य क्षेत्र के कुछ प्रत्याशियों के साथ मिलकर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी वीएल कांताराव से मुलाकात कर वीवीपैट की पर्ची से गणना कराने की मांग की थी| 

दरअसल, कांग्रेस 114 सीटें जीतकर सहयोगियों के समर्थन से सरकार बनाने में सफल तो हुई| लेकिन जिस गढ़ को कांग्रेस मजबूत मान रही थी वहाँ बुरी तरह हार मिली| विंध्य क्षेत्र जहां कांग्रेस को मनवांछित सफलता नहीं मिल सकी। विंध्य से कांग्रेस को सबसे ज्यादा उम्मीदें थीं। यहां की कुल 30 सीटों पर भाजपा को 24 पर कामयाबी मिली| कांग्रेस को मात्र 6 सीटें हासिल हुईं।  सबसे ज्यादा चौंकाने वाला परिणाम रहा नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह का। वह पिछले 20 साल से चुरहट विस सीट से लगातार चुनाव जीतते आ रहे थे। लेकिन इस बार उन्हें हार का सामना करना पड़ा है। यह पहला मौका है जब अजय सिंह अपने गृह क्षेत्र में चुनाव हारे हैं। जबकि इस बार के चुनावों में अजय सिंह ने विंध्य क्षेत्र में कांग्रेस को एकजुट करने में अहम भूमिका निभाई। इस सीट से इस बार सिंह के खिलाफ खड़े भाजपा प्रत्याशी शारदेंदु तिवारी ने उन्हें पटखनी दी है। विंध्य के चुनाव परिणाम के बाद कांग्रेस शुरुआत से शंका जाहिर कर रही है| वहीं क्षेत्र में इस बात के चर्चे है कि कहीं यह साजिश तो नहीं| इस बीच यह वीडियो वायरल हो रहा है| 

 

 एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ इस ऑडियो की सतयता की पुष्टि नहीं करता है|