दिग्विजय की हार पर ‘समाधि’ लेने वाले ‘मिर्ची बाबा’ निरंजनी अखाड़े से बाहर, सोशल मीडिया पर ढून्ढ रहे लोग

baba-who-took-samadhi-after-the-defeat-of-digvijay-singh-sacked-by-niranjani-akhara

भोपाल।

भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस प्रत्याशी और वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह की हार के बाद से ही मिर्ची बाबा यानि महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद की मुश्किलें बढ़ गई है। एक तरफ जहां लोगों ने उनकी तलाश शुरु कर दी है, सड़क से लेकर सोशल मीडिया पर उन्हें खोजा जा रहा है, उनसे संपर्क करने की कोशिश की जा रही है , वही दूसरी तरफ अखाड़े ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया है। अखाड़े ने बदनामी के कारण अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है।बता दे कि मिर्ची बाबा ने दिग्विजय की जीत का दावा किया था और कहा था कि अगर वे हारे तो जिंदा समाधि ले लेंगें।इसका वीडियो भी सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ था और नतीजों के बाद फिर से वायरल हो रह�� है।

दरअसल, लोकसभा चुनाव के दौरान कंम्प्यूटर बाबा की तरह महामंडलेश्वर स्वामी वैराग्यानंद उर्फ मिर्ची बाबा भी चर्चा में रहे। जहां कंम्प्यूटर बाबा ने उनके लिए अनुष्ठान और हठयोग कर जीत का दावा किया था वही मिर्ची बाबा ने दिग्विजय सिंह की जीत के लिए  साढ़े 5 क्विंटल लाल मिर्च का यज्ञ किया था और  दावा किया था  अगर दिग्विजय सिंह नहीं जीते तो वह यज्ञ कुण्ड में जीवित समाधि ले लेंगे, लेकिन दिग्विजय बीजेपी की साध्वी प्रज्ञा से तीन से ज्यादा वोटों से हार गए है।

ऐसे में चुनाव परिणाम आने के बाद से बाबा वैराग्यानंद जी महाराज का समाधि लेने की बात कहने वाला वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है और उनकी तलाश की जा रही है।लेकिन कहा जा रहा है कि नतीजों के बाद से ही बाबा अंडर ग्राउंड हो गए है।किसी को उनके बारे मे कोई खबर नही है। वही सोशल मीडिया पर भी बाबा ट्रेंड करने लगे है।खास बात तो ये है कि कुछ यूजर्स ने तो पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज को ही उनका पता करने को कह दिया है।लगातार हो रही बदनामी के बाद निरंजनी अखाड़े ने उन्हें बाहर का रास्ता दिखा दिया है। हरिद्वार के निरंजनी अखाड़े के सचिव रविंद्र पूरी के मुताबिक निरंजनी अखाड़े के महामंडलेश्वर वैराज्ञानंद गिरी को बदनामी उनके अखाड़े ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है। महामंडलेश्वर का यह कृत्य अनुशासनहीनता की श्रेणी में आता है। बताया जा रहा है कि बाबा  भोपाल के मीनाल रेसीडेंसी स्थित अपने किराए के घर से हरिद्वार चले गए हैं।हालांकि हरिद्वार से किसी ने भी उनके होने की पुष्टि नही की है, लेकिन सोशल मीडिया पर बाबा का जमकर मजाक उड़ाया जा रहा है।हैरानी की बात तो ये है कि इस मामले में अबतक दिग्विजय की प्रतिक्रिया सामने नही आए है।