बाबू ने अधिकारी को फंसाने की रची साजिश, स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी का बड़ा कारनामा, जुर्माने से बचने के लिए नकली दस्तावेज किए पेश

Avatar
Published on -

BHOPAL NEWS : RTI में ₹25000 के जुर्माने से बचने के चक्कर में एक बाबू के अपने ही अधिकारी को फंसाने का मामला राज्य सूचना आयोग के सामने आया है। स्वास्थ्य विभाग के एक बाबू ने नोटशीट पेश कर लापरवाही का ठीकरा सीएमएचओ के ऊपर फोड़ दिया। पर सूचना आयुक्त राहुल सिंह की जांच में यह फर्जीवाड़ा पकड़ा गया। आयोग ने नकली दस्तावेज पेश करने वाले बाबू के विरुद्ध ही ₹15000 का जुर्माना लगा दिया।

ये जानकारी मांगी थी
रीवा जिले के एडवोकेट वृंदावन शुक्ला ने सीएमएचओ कार्यालय रीवा से जिले में संचालित सभी नर्सिंग होम की सूची मांगी थी और साथ ही नर्सिंग होम के संचालन की अनुमति के शर्तों की जानकारी भी चाही थी। RTI मार्च 2022 मे दायर हुई थी और कानून के अनुरुप 30 दिन में जानकारी मिल जानी चाहिए थी। RTI आवेदन में जानकारी नहीं मिलने पर वृंदावन शुक्ला ने क्षेत्रीय संचालक स्वास्थ्य रीवा के पास प्रथम अपील दायर की। क्षेत्रीय संचालक ने भी जानकारी को 5 दिन में देने के आदेश जारी किए। पर इसके बात भी जानकारी वृंदावन शुक्ला को नहीं मिली तो शुक्ला ने सूचना आयोग में द्वितीय अपील दायर।

Continue Reading

About Author
Avatar

Sushma Bhardwaj