राखी से पहले साँची ने लॉन्च किये अपने नए उत्पाद, मंत्री ने कही बड़ी बात

सुश्री मेघा परमार ने कहा कि वह खुद किसान परिवार से आती हैं। साँची से जुड़े उनके पिता की मुख्य आमदनी डेयरी व्यवसाय से ही होती थी। इस ऊँचाई तक पहुँचने में साँची से हुई आमदनी की मुख्य भूमिका है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। पशुपालन मंत्री प्रेम सिंह पटेल ने आज बुधवार को भोपाल दुग्ध संघ परिसर में साँची (Sanchi) के नये उत्पाद- गाय का घी, बृज का पेड़ा और बेसन के लड्डू लांच किये। मंत्री ने साँची के उत्पादों को लोगों तक पहुँचाने के लिये चलित साँची पार्लर का लोकार्पण भी किया। इसका फायदा उन क्षेत्रों को भी मिलेगा जहाँ साँची पार्लर नहीं हैं। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव पशुपालन एवं डेयरी जेएन कंसोटिया, प्रबंध संचालक स्टेट को-ऑपरेटिव डेयरी फेडरेशन तरुण राठी सहित साँची की नव-नियुक्त ब्रांड एम्बेसडर सुश्री मेघा परमार भी उपस्थित थीं।

मंत्री प्रेम सिंह पटेल (Animal Husbandry Minister Prem Singh Patel) ने कहा कि साँची के उत्पाद- दूध, दही, मट्ठा, घी, श्रीखंड, सुगंधित दूध आदि की प्रदेश में काफी मांग है। राखी के त्यौहार की मिठास बढ़ाने के लिये आज भोपाल दुग्ध संघ का गाय का घी (Sanchi Cow Ghee) , बृज का पेड़ा (Sanchi Braj Peda) और ग्वालियर दुग्ध संघ के बेसन के लड्डू (Sanchi Besan Laddu) शुरू किये गये हैं। उन्होंने एवरेस्ट फतह करने वाली मध्य प्रदेश की बेटी सुश्री मेघा परमार को प्रदेश का गौरव बढ़ाने और साँची ब्रांड एम्बेसडर बनने पर बधाई दी। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि साँची के उत्पाद भी अपरोक्ष रूप से किसानों की ही देन है।

ये भी पढ़ें – शिवराज सरकार का बड़ा फैसला, इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेज में शुरू होगा ये नया कोर्स

साँची पार्लर्स ने पिछले साल 37 मीट्रिक टन मिठाई बेची थी 

अपर मुख्य सचिव श्री कंसोटिया ने कहा कि साँची देश का माना हुआ ब्रांड है। सुश्री मेघा परमार के जुड़ने से इसका और अधिक विकास होगा। उत्पादों की लोकप्रियता देखते हुए प्रदेश के सभी दुग्ध संघ नये उत्पाद ला रहे हैं। प्रबंध संचालक श्री राठी ने कहा कि प्रदेश में ऐसे 100 साँची पार्लर संचालित किये जायेंगे। साँची पार्लर्स से गत वर्ष 37 मीट्रिक टन मिठाई का विक्रय हुआ। इस वर्ष 50 मीट्रिक टन का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री तिवारी ने बताया कि साँची के उत्पाद रक्षा विभाग, स्कूल कॉलेज में भी जाते हैं। एफसीसीआई के हाल में किये गये ऑडिट में साँची उत्पाद को 100 में 96 अंक प्राप्त हुए हैं।

ये भी पढ़ें – MP Govt Jobs 2022 : मप्र में 45000 पदों पर अलग-अलग विभागों में निकली है भर्ती, जानें आयु पात्रता और नियम, ऐसे करें आवेदन

ये कहा मेघा परमार ने 

सुश्री मेघा परमार ने कहा कि वह खुद किसान परिवार से आती हैं। साँची से जुड़े उनके पिता की मुख्य आमदनी डेयरी व्यवसाय से ही होती थी। इस ऊँचाई तक पहुँचने में साँची से हुई आमदनी की मुख्य भूमिका है। उन्होंने कहा कि बचपन से पिता के साथ साँची के टेंकर, दूध संकलन की प्रक्रिया आदि देखती आ रही थी, आज ब्रांड एम्बेसडर बनने पर बहुत सौभाग्‍य महसूस कर रही हूँ।

ये भी पढ़ें – अवैध कॉलोनी मामले में हाई कोर्ट ने राज्य सरकार को दिया नोटिस, मांगा जवाब

नये उत्पाद और उनकी दरें

साँची गौ घी का मूल्य एक लीटर 630 रुपये, मथुरा पेड़े की तर्ज पर बने बृज पेड़े 220 रुपये प्रति 500 ग्राम और बेसन के लड्डू 200 रुपये प्रति 500 ग्राम निर्धारित किया गया है। घी की शेल्फ लाइफ 6 माह और लड्डू और पेडे़ की एक माह होगी। जल्दी ही श्रीखंड लाइट की लांचिंग की जाएगी।

ये भी पढ़ें – लोकायुक्त पुलिस ने सहकारिता निरीक्षक को 15,000 रुपये की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार किया

इस खास मौके पर संचालक डॉ आर के मेहिया, प्रबंध संचालक राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम एच.बी.एस. भदौरिया, भोपाल दुग्ध संघ के सीईओ आर पी एस तिवारी कार्यक्रम में उपस्थित थे। साँची के वितरक, पार्लर, बूथ रिटेल एजेंट, होटल आदि के प्रतिनिधि भी बड़ी संख्या में मौजूद थे।