उपचुनाव से पहले कांग्रेस ने इस दिग्गज नेता को सौंपी बड़ी जिम्मेदारी

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट| मध्यप्रदेश कांग्रेस (MP Congress) के कार्यकारी अध्यक्ष सुरेन्द्र चौधरी (Surendra Chaudhary) को पार्टी ने उपचुनाव (By-election) से पहले बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है| चौधरी को मप्र कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष का अतिरिक्त दायित्व सौंपा गया है।

दरअसल, पूर्व गृहमंत्री महेंद्र बौद्ध ने हाल ही में पीसीसी के अनुसूचित जाति विभाग के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दिया था| जिसके बाद महेंद्र बौद्ध को पार्टी से निष्कासित कर दिया गया था। बौद्ध ने मंगलवार को बहुजन समाज पार्टी की सदस्यता ली, जिसके बाद कांग्रेस ने उनके निष्कासन का निर्णय लिया।

SC विभाग के नेताओं की उपेक्षा के लगाए थे आरोप
पार्टी से नाराज होकर महेंद्र बौद्ध ने पद से इस्तीफा दिया था| बौद्ध ने प्रदेश नेतृत्व पर अनुसूचित जाति विभाग के नेताओं और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा का आरोप लगाया था। उनका कहना था कि अनुसूचित जाति की सीटों के प्रत्याशी चयन में अनुसूचित जाति विभाग या उसके पदाधिकारियों से कोई राय नहीं ली गई, उन्हें दरकिनार किया गया।

बसपा की टिकट पर लड़ सकते हैं उपचुनाव
बता दें कि भांडेर में उपचुनाव को लेकर महेन्द्र बौद्ध सक्रिय थे, लेकिन कांग्रेस ने यहां बसपा के पूर्व नेता और बहुजन संघर्ष दल से कांग्रेस में आए फूलसिंह बरैया को उम्मीदवार घोषित कर दिया| जिसके बाद उन्होंने पार्टी के सामने अपनी नाराजगी जाहिर की और फिर बसपा में शामिल हो गए| दिग्विजय सिंह की सरकार में महेंद्र बौद्ध गृह मंत्री रहे थे। बसपा की टिकट पर भांडेर से वे चुनाव लड़ सकते हैं|