Before-the-elections

भोपाल। मध्य प्रदेश का विधानसभा चुनाव दिनों दिन दिलचस्प होता जा रहा है। कांग्रेस और बीजेपी दोनों पार्टियों ने अपने मैनिफेस्टो जारी कर दिया है, जिसके बाद से ही चुनाव प्रचार और तेज हो गया है। वही चौथी बार सरकार बनाने का दावा कर रही प्रदेश की शिवराज सरकार की राह अब भी कठिन नजर आ रही है। प्रधानमंत्री मोदी और पार्टी अध्यक्ष अमित समेत स्टार प्रचारकों को चुनावी दंगल नें उतारने के बाद कुर्सी बचाने के लिए भाजपा अब अपने आईटी और सोशल मीडिया को मजबूत करने जा रही है। इसके लिए पार्टी ने गुजरात के आईटी एक्सपर्ट्स को बुलाया गया है।

खबर है कि बीजेपी मीडिया सेंटर में आयोजित बीजेपी आईटी और सोशल मीडिया वॉलेंटियर मीट के दौरान गुजरात से आए आईटी टीम के एक्सपर्ट्स ने उन्हें प्रचार के नए नए तरीकों के बारे में टिप्स दिए। मीट में 150 से ज्यादा वॉलिंटियरर्स को प्रशिक्षण दिया गया है।पार्टी इन एक्सपर्ट्स की सहायता से नए नए आईडियाज निकालेगी और उन इस चुनाव मे इस्तेमाल करेगी। चुंकी बीते कई दिनों से भाजपा-कांग्रेस का वीडियो औऱ पोस्टर वॉर जारी है, कांग्रेस इन दिनों भाजपा से ज्यादा एक्टिव नजर आ रही है। खास बात ये है कि इस कांग्रेस की इस आईटी सेल पर खुद पीसीसी चीफ कमलनाथ निगाह रखे हुए है। ऐस में हो सकता है बीजेपी इस चुनाव में गुजरात फार्मूला लागू कर दे। हालांकि इस पर अभी सहमति नही बनी है। अगर ऐसा होता है तो मध्यप्रदेश की टीम पर सवाल उठना लाजमी है। अब देखना दिलचस्प है कि क्या वाकई में कोई फॉर्मूला यहां काम करेगा या नही।