सट्टेबाजी में पुलिस की मिलीभगत, एएसआई सस्पेंड, थानेदार पर भी गिर सकती है गाज

भोपाल। राजधानी भोपाल में सट्टा कारोबार तेजी से फल फूल रहा है, अशोका गार्डन थाना क्षेत्र में गुरुवार को हुई कार्रवाई के बाद सटोरियों को संरक्षण देने के आरोप में शनिवार को अशोका गार्डन थाने के एएसआई मनोज यादव को सस्पेंड किया गया है। इधर एमपी नगर सीएसपी सतीश समाधिया के अनुसार टीआई अशोका गार्डन की भूमिका भी सटोरियों के साथ संदिग्ध है। उनके खिलाफ प्रतिवेदन बनाकर डीआईजी को भेजा गया है। प्रतिवेदन के आधार पर टीआई पर गाज गिरना तय है। अशोका गार्डन थाने में लंबे समय से जमे आरक्षक श्रीकृष्ण कटारिया एवं अन्य को भी हटाया जा सकता है।

जानकारी के अनुसार चार माह से जिला बदर चल रहे बदमाश लल्लू उर्फ रईस के घर तीन दिन पहले सीएसपी व टीम ने छापा मारा था। इस कार्रवाई में सात लोगों का जुआ खेलते गिरफ्तार किया गया था। जबकि रईस लल्लू को फरार बताया दिया। सीएसपी की टीम को इस दौरान टीआई व एएसआई यादव की मिली भगत की जानकारी मिली थी। सीएसपी ने जांच के बाद प्रतिवेदन एसपी को सौंपा था। जिसके आधार पर एसपी ने यादव को सस्पेंड किया। उन्हें महकमे से बर्खास्त करने की कार्रवाई पर भी विचार किया जा रहा है। वहीं अशोका गार्डन थाना सूत्रों की अगर माने तो आरक्षक रामकृष्ण कटारिया भी रूप नगर के सटोरियों का करीबी है। पूर्व में इसका एमपी नगर ट्रांसफर हुआ था। जहां महज एक माह नौकरी की और राजनीतिक पहुंच का इस्तमाल कर दोबारा अशोका गार्डन थाने में पहुंच गया।