भोपाल : पहले भी विवादो मे रहा है बिलाबॉन्ग हाई इंटरनेशनल स्कूल, पुलिस ने नही की थी कार्रवाई

नर्सरी की बच्ची से स्कूल बस में छेड़छाड़ के मामलें में तीन सदस्यीय कमेंटी गठित की गई है, यह कमेंटी इस मामलें की जांच करेंगी और रिपोर्ट प्रदेश के शिक्षा मंत्री को सौंपेंगी।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल के बिलाबॉन्ग हाई इंटरनेशनल स्कूल की नर्सरी की बच्ची से स्कूल बस में छेड़छाड़ के मामलें में तीन सदस्यीय कमेंटी गठित की गई है, यह कमेंटी इस मामलें की जांच करेंगी और रिपोर्ट सरकार के शिक्षा मंत्री को सौंपेंगी, प्रदेश के स्कूल शिक्षा मंत्री इंदर सिंह परमार ने इस घटना को बेहद गंभीर बताते हुए आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए है, मंत्री परमार ने कहा कि बस ड्राइवर और महिला स्टाफ के साथ ही स्कूल प्रबंधन पर भी कार्रवाई की जाएगी, इस मामलें में बताया जा रहा है कि ड्राइवर हनुमत जाटव ने साढ़े तीन साल की मासूम के साथ वारदात की। बस की केयर टेकर उर्मिला साहू को ड्राइवर की करतूतों की जानकारी थी। वह ड्राइवर का साथ देती थी। बच्ची के साथ गलत होता देखकर भी उसने ड्राइवर का कभी विरोध नहीं किया। पुलिस ने ड्राइवर के साथ उसे भी सहआरोपी बनाकर गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें…. भोपाल : बिलाबाॅन्ग हाई इंटरनेशनल स्कूल बस में ड्राइवर ने की मासूम के साथ छेड़छाड़, गृह मंत्री ने दिए जांच के आदेश, स्कूल पर भी होगी कार्रवाई

इस स्कूल का नाम पहले भी विवादों में आ चुका है, पहले इस स्कूल पर धर्मांतरण के आरोंप लग चुके है, आरोप लगाने वाले अभिभावक निर्मल शिंपी ने इसकी शिकायत जिला प्रशासन, पुलिस से लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय तक की थी। निर्मल शिंपी का कहना है कि कुछ साल पहले उन्होंने मुस्लिम लड़की से हिन्दू रीति रिवाज के साथ शादी की थी जिसके बाद उनका एक बेटा है, दंपति ने आने बेटे को शहर के प्रतिष्ठित बिल्ला बॉन्ग स्कूल में डाला लेकिन स्कूल में आईटी विभाग के एचओडी लगातार अब उनके बच्चे और उसी स्कूल में टीचर उनकी पत्नी पर मुस्लिम धर्म अपनाने का दबाव बना रहे है। इसी के चलते निर्मल का अपनी पत्नी से विवाद हुआ और वह बेटे को लेकर अलग रहने लगी।फिलहाल अब मासूम बच्ची से छेड़छाड़ के इस मामलें में सरकार की नाराजगी के बाद पुलिस पूरी मुस्तैदी से जुट गई है।