भोपाल। मध्य प्रदेश एंटी माफिया अभियान चल रहा है। जिसके तहत अवैध कब्जा और अतिक्रमण को हटाने की कार्रवाई चल रही है। अब भोपाल में जमीन को लेकर हुए धोखाधड़ी के शिकार लोगों को मदद देने के लिए कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव ने पहल की है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं फरियादियों को उनकी जमीन का कब्जा और रजिस्ट्री भी कराई जाए।

गुरुवार को भोपाल संभागायुक्त कल्पना श्रीवास्तव ने सहकारिता विभाग के अफसरों की समीक्षा बैठक ली और अधिकारियों को गृह निर्माण समितियों की धोखाधड़ी के शिकार वास्तविक परिवारों को भूखंड आवंटन पत्र के साथ कब्जा दिलाकर उनकी रजिस्ट्री कराना सुनिश्चित करें। कमिश्नर श्रीवास्तव ने आज धोखाधड़ी के शिकार व्यक्तियों से उनकी समस्या जानी और इस संबंध में विषेश सुनवाई की। कमिश्नर ने कहा कि आगामी एक पखवाड़े में सुनिश्चित करें कि चिन्हित एक हजार परिवारों को उनके प्लॉट आवंटन तो हो ही, भूखंड पर उनका कब्जा और रजिस्ट्री भी हो जाए । उन्होंने कहा कि अब तक प्राप्त लगभग साढ़े पांच सौ शिकायतों को पूरी गंभीरता से निराकृत करें । उन्होंने विशेष जनसुनवाई अभियान लगातार चलाने के निर्देश भी दिए हैं ।

जिले में कुल 39 भूमि अतिक्रमणकर्ता को चिन्हित कर उनके अवैध संरचनाओं को ध्वस्त किया गया है । इनमें से 09 बड़े भूमि अतिक्रमणकर्ताओं के विरूद्ध एफ.आई.आर. दर्ज कराई गई । अवैध कॉलोनाइजरों पर भी आवश्यकता अनुसार कार्यवाही की गई है। जिले में 24 स्थानों पर 59.76 एकड़ शासकीय भूमि (अनुमानित बाजार मूल्य 97.59 करोड़ रूपये) अतिक्रमण से मुक्त कराया गया है। आपराधिक गतिविधियों में शमिल तथा अवैध कार्य करने वाले कुल – 09 व्यक्ति चिन्हित किये गये जिनके विरूद्ध जिला प्रशासन द्वारा अवैध शॉपिंग कॉम्पलेक्स एवं मकान का अतिक्रमण तथा अन्य अपराधिक कृत्य के मद्धेनजर कड़ी कार्यवाही की जा रही है इनमें से एक व्यक्ति को जिला बदर कर व अन्य तीन के विरूद्ध कार्यवाही प्रचलित है। भोपाल शहर के व्यावसायिक क्षेत्र के अन्दर चल रहे बिना अनुमति के 02 होटल पर कड़ी कार्यवाही करते हुये उनकी संरचना को ध्वस्त कर, इन होटलों में हो रहे अवैध कार्यों के विरूद्ध कार्यवाही की गई है। हवाला कार्यों में संलग्न एक व्यापारी से चांदी-सोना एवं नगदी को जप्त किया गया है।