मध्य प्रदेश
3D illustration of Coronavirus, virus which causes SARS and MERS, Middle East Respiratory Syndrome

भोपाल।

एमपी (MadhyPradesh) में लॉकडाउन (LockDown) के अनलॉक (Unlock 1.0) होने के बाद इंदौर(indore) से ज्यादा भोपाल (bhopal) की स्थिति गंभीर हो चली है। यहां आए दिन 50-70 मरीज मिल रहे है और आंकड़ा तेजी से आगे बढ रहा है।बुधवार देर रात आई रिपोर्ट में फिर विस्फोट हुआ है और 58 नए कोरोना पॉजिटिव मिले है। अबतक कुल शहर में संक्रमितों का आकंड़ा 2300 के पार पहुंच गया है वही 75 करीब लोगों की मौत हो चुकी है।इधर प्रदेश भी 11 हजार संक्रमितों से घिरा हुआ है और 480 लोगों की मौत हो चुकी है।ऐसे में सवाल उठता है कि क्या सरकार सख्ती करेगी या फिर और रियायत देगी।

इसमें ऐशबाग के एक ही इलाके से 16, MPEB मैनेजमेंट हेड आफिस से 8, बिट्ठन मार्किट स्थित सेल टैक्स ऑफिस 3 कर्मचारी और जहांगीराबाद इलाके के डी मार्ट से भी एक कोरोना पॉजिटिव मिला है।इसमें जनसम्पर्क विभाग के एक अधिकारी भी शामिल है।वही अन्य जहांगीराबाद शाहजहानाबाद और राजधानी के दूसरे इलाकों से कोरोना पॉजिटिव मिले है।इससे पहले मंगलवार को कोरोना संक्रमण के 47 नए मामले मिले। इसमें 17वीं बटालियन विशेष सशस्त्र बल (SAF) के 7 जवान कोरोना पॉजिटिव(corona positive) पाए गए थे। इसके साथ बंगरसिया के सीआरपीएफ कैंपस(CRPF Campus) में आज फिर एक कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला। वहीं भोपाल में 25वीं बटालियन का भी एक जवान पॉजिटिव मिला था।

बता दे कि राज्य में सभी 52 जिलों में संक्रमण पहुंच गया है, लेकिन 6 जिलों में एक्टिव केस शून्य हो गए हैं। यानी कि अब वहां पर कोई भी कोरोना संक्रमित नहीं है। जबकि कुल 52 जिलों में 34 जिले ऐसे हैं, जहां पर बीते 24 घंटे के दौरान कोरोना का एक भी केस नहीं मिला।हालांकि पिछले 24 घंटों में 161 नए मामले सामने आए, जिसके बाद संक्रमितों की संख्या बढ़कर 11244 हो गई है।