भोपाल : 40 हजार की रिश्वत लेते विद्युत यांत्रिकी कोलार में पदस्थ स्थापना प्रभारी को लोकायुक्त ने पकड़ा

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में लोकायुक्त ने कार्रवाई करते हुए कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार  में पदस्थ स्थापना प्रभारी जी के पिल्लई को रिश्वत लेते पकड़ा है, जी के पिल्लई आवेदक से उसकी मृतक माँ के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए 40 हजार रिश्वत ले रहा था।

यह भी पढ़ें….. Health : ज्यादा गर्म पानी का सेवन स्वास्थ्य के लिए है हानिकारक, जानें इसके नुकसान

बताया जा रहा है कि आवेदक सिद्धार्थ सक्सेना निवासी जवाहर चौक भोपाल द्वारा पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल को 20 सितंबर को लिखित शिकायत की गई कि उसकी मां नीना सक्सेना जो कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल में ट्रेसर के पद पर पदस्थ थी जिनका देहांत विगत जून माह में हो गया है। आवेदक ने बताया है कि उसकी मां ने सर्विस रिकॉर्ड में आवेदक को ही नॉमिनी बनाया है। जब आवेदक ने अपनी स्वर्गीय मां के जीपीएफ और अन्य लाभों के भुगतान के लिए कार्यालय कार्यपालन यंत्री विद्युत यांत्रिकी कोलार रोड भोपाल में आवेदन किया तो वहां पदस्थ स्थापना प्रभारी जी. के. पिल्लई ने भुगतान के बदले में आवेदक से 40000 रुपए रिश्वत की मांग की। आवेदक की उक्त शिकायत का सत्यापन कराया गया जो सही पाई गई। जिसके बाद गुरुवार को पुलिस अधीक्षक लोकायुक्त भोपाल के निर्देशन में 10 सदस्यीय ट्रैप दल द्वारा एम. पी. नगर में मिलन रेस्टोरेंट में आरोपी जी के पिल्लई, स्थापना प्रभारी, कार्यालय कार्यपालन यंत्री, विद्युत/ यांत्रिकी जल संसाधन विभाग कोलार रोड भोपाल को आवेदक से 40000 रुपए की रिश्वत राशि लेते हुए रंगे हाथों पकड़ा गया। कार्रवाई जारी है।