Bhopal News : 29 हजार पेड़ काटे जाने का मामला गरमाया,कांग्रेस के नेतृत्व में स्थानीय लोग धरने पर, NGT और कोर्ट जाने की चेतावनी

पर्यावरणविद के मुताबिक 1966 के आंकड़े के मुकाबले अब केवल 4 प्रतिशत हरियाली भोपाल में बची है उसमें से 70 प्रतिशत इसी शिवाजी नगर, तुलसी नगर इलाके में है, सरकार की इसपर भी नजर है। इसलिए यदि ऐसा होता है तो हम NGT , हाईकोर्ट सुप्रीम कोर्ट जायेंगे लेकिन पेड़ नहीं काटने देंगे।  

Atul Saxena
Published on -
Bhopal News

Bhopal News : राजधानी भोपाल में 29 हजार पेड़ काटे जाने का मामला तूल पकड़ता जा रहा हैं, हालाँकि नगरीय प्रशासन मंत्री कैलाश विजयवर्गीय ने कल ही एमपी ब्रेकिंग न्यूज़ से बात करते हुए इसे अफवाह बताया था और कहा था कि एक भी पेड़ नहीं कटेगा, पेड़ों को शिफ्ट किया जायेगा, बावजूद इसके लोग कांग्रेस के नेतृत्व में धरना दे रहे हैं। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने कहा कि हम पेड़ नहीं काटने देंगे और चिपको आंदोलन चलाएंगे, वहीं धरने में शामिल पर्यावरणविद ने कहा है कि वे NGT, हाईकोर्ट, सुप्रीम कोर्ट तक जायेंगे लेकिन एक भी पेड़ नहीं कटने देंगे।

शिवाजी नगर, तुलसी नगर के रहवासी कांग्रेस के नेतृत्व में धरने पर 

राजधानी में मंत्रियों और विधायकों के रहने के लिए बनाये जा रहे नए आवासों के निर्माण के लिए 29 हजार पेड़ काटे जाने की खबर से सियासत गरमाई हुई है। इस बीच शिवाजी नगर, तुलसी नगर के रहवासी अब धरने पर बैठ गए हैं उन्हें कांग्रेस का सपोर्ट मिल रहा है, धरने में स्थानीय कांग्रेस पार्षद गुड्डू चौहान और पूर्व मंत्री पीसी शर्मा भी शामिल हुए।

पीसी शर्मा की चेतावनी, पेड़ काटे तो चलेगा चिपको आंदोलन 

पीसी शर्मा ने कहा कि भाजपा सरकार मनमानी पर उतारू है पहले स्मार्ट सिटी के नाम पर पेड़ काटे और अब बंगलों के नाम पर हजारों पेड़ काटने की प्लानिंग है , लेकिन हम ऐसा नहीं होने देंगे। यदि एक भी पेड़ काटा तो चिपको आंदोलन चलाया जायेगा, एक एक नागरिक एक एक पेड़ से चिपक कर खड़ा होगा, लेकिन पेड़ नहीं कटने देगा।

पर्यावरणविद ने चेताया रहने लायक नहीं बचेगा भोपाल, NGT, सुप्रीम कोर्ट तक जायेंगे  

धरने में शामिल पर्यावरणविद डॉ पांडे ने कहा कि यदि इतनी बड़ी संख्या में पेड़ काटे जाते हैं तो ये भोपाल भविष्य में रहने लायक नहीं बचेगा, तापमान 50 डिग्री तक पहुंच जायेगा और भूजल दो मीटर और नीचे पहुंच जायेगा। यहाँ की आबोहवा प्रदूषित हो जाएगी और भीषण पेयजल संकट हो जायेगा। उन्होंने कहा कि 1966 के आंकड़े के मुकाबले अब केवल 4 प्रतिशत हरियाली भोपाल में बची है उसमें से 70 प्रतिशत इसी शिवाजी नगर, तुलसी नगर इलाके में है, सरकार की इसपर भी नजर है। इसलिए यदि ऐसा होता है तो हम NGT , हाईकोर्ट सुप्रीम कोर्ट जायेंगे लेकिन पेड़ नहीं काटने देंगे।

Bhopal News : 29 हजार पेड़ काटे जाने का मामला गरमाया,कांग्रेस के नेतृत्व में स्थानीय लोग धरने पर, NGT और कोर्ट जाने की चेतावनी


About Author
Atul Saxena

Atul Saxena

पत्रकारिता मेरे लिए एक मिशन है, हालाँकि आज की पत्रकारिता ना ब्रह्माण्ड के पहले पत्रकार देवर्षि नारद वाली है और ना ही गणेश शंकर विद्यार्थी वाली, फिर भी मेरा ऐसा मानना है कि यदि खबर को सिर्फ खबर ही रहने दिया जाये तो ये ही सही अर्थों में पत्रकारिता है और मैं इसी मिशन पर पिछले तीन दशकों से ज्यादा समय से लगा हुआ हूँ.... पत्रकारिता के इस भौतिकवादी युग में मेरे जीवन में कई उतार चढ़ाव आये, बहुत सी चुनौतियों का सामना करना पड़ा लेकिन इसके बाद भी ना मैं डरा और ना ही अपने रास्ते से हटा ....पत्रकारिता मेरे जीवन का वो हिस्सा है जिसमें सच्ची और सही ख़बरें मेरी पहचान हैं ....

Other Latest News