जल्द ही शहर के 10 से ज्यादा वार्डों को मिलेगी राहत

भोपाल। राजधानी भोपाल (Bhopal) में जिस तरह से कोरोना (Corona) के मरीजों की संख्या बढ रही है, ऐसे में यहां किसी भी प्रकार की छूट देना सरकार (Government) के लिए किसी खतरे से खाली नहीं है| ऐसे में प्रशासन योजना बना रहा है कि आखिर कैसे लॉकडाउन (Lockdown) में ग्रीन (Green Zone) और ऑरेंज जोन (Orange Zone) की तरह यहां भी थोडी-थोडी छूट लोगों की दी जाए| इसके लिए प्रशासन अब वार्ड दर वार्ड छूट देने पर मंथन कर रहा है| रेड जोन मे जो वार्ड संक्रमण मुक्त हैं या वहां बीते 28 दिनों से वहां कोरोना का कोई केस नहीं आया है उनमें किराना दुकानें, थोक दुकानें, फल मंडी, थोक सब्जी मंडी, पशु आहार दुकाने, चक्की और रिपेयर दुकानों को तय समय अनुसार दुकाने खोलने की इजाजत दी जा सकती है| भोपाल में ऐसे 10 से भी ज्यादा वार्ड हैं|

अगर ग्रामीण इलाकों की बात करें तो केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार उन्हे लॉकडॉउन में थोडी छूट दे दी गई है लेकिन नगर निगम सीममा के अंदर ढील देने पर आज निर्णय किया जाएगा| नगर निगम के अधिकारी इस बात पर मंथन कर रहे हैं कि 4 मई से कहां-कहां छूट दी जा सकती है|

गौरतलब है कि छूट तो देने पर विचार किया जा रहा है लेकिन इसके साथ ही बहुत सी शर्तें भी रहेंगी….इसमें सबसे महत्वपूर्ण जो शर्त है वो यह कि छूट के दौरान जो जिस वार्ड का वो उसी वार्ड में रहे, वार्ड ना बदले, क्योंकि वार्ड के बदलने से संक्रमण का खतरा बढ जाता है | बता दें कि जिन 10 से ज्यादा वार्डों को छूट देने की बात की जा रही है उसमें से अधिकतर वार्ड नए भोपाल और होशंगाबाद रोड से सटे हुए हैं….

इस प्रकार होगी छूट की समय सीमा
– किराने की दुकान- सुबह 8बजे से दोपहर 2बजे तक
– थोक सब्जी मंडी- सुबह 7बजे से दोपहर 11बजे तक
– जरूरी दिनचर्य़ा से जुडी दुकाने- सुबह 6बजे से दोपहर 2बजे तक
– आटा चक्की की दुकान- सुबह 8बजे से दोपहर 2बजे तक
– अधिकृत ऑटोमोबाइल शॉरूम- सुबह 10 से दोपहर 4बजे तक