भोपाल : ऑनलाइन गेम की लत ने ली बच्चे की जान, पांचवी कक्षा का था छात्र

बच्चे ने तीन महीने पहले भी फांसी लगाकर सुसाइड करने की कोशिश की

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। ऑनलाइन गेम के शौक ने एक बच्चे की जान ले ली। भोपाल के स्टेशन बजरिया इलाके के रहने वाले इस बच्चे को फ्री फायर गेम खेलने की आदत पड़ गई थी। बच्चे ने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी हालांकि उसके पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। अवधपुरी के सेंट जेवियर स्कूल में पढ़ने वाला सूर्यांश पांचवी कक्षा का छात्र था। बुधवार की दोपहर उसने बॉक्सिंग रिंग के रस्सी के फंदे पर लटककर जान दे दी। परिजन उसे तत्काल अस्पताल ले गए लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बच्चे के परिजनों का कहना है कि वह मोबाइल में फ्री फायर गेम खेला करता था और उसे गेम वाले सीरियल देखने की बेहद आदत पड़ गई थी। पुलिस इस बात की पड़ताल कर रही है कि कहीं बच्चे ने गेम में मिले किसी टारगेट के चलते ऐसा कदम तो नहीं उठाया। हैरत की बात यह है कि बच्चे ने तीन महीने पहले भी फांसी लगाकर सुसाइड करने की कोशिश की थी लेकिन उसकी मां ने उसे बचा लिया था।

यह भी पढ़े…MP Corona : सीएम शिवराज ने होम आइसोलेशन वाले मरीजों के लिए दिए ये निर्देश

क्या है फ्री फायर गेम

फ्री फायर एक सर्वाइवल शूटर या बैटल गेम है। फ्री फायर मोबाइल गेम पब्ग मोबाइल गेम से पहले आया था। यहां पैराशूट की मदद से प्लेयर जंप करते हैं। एक आयरलैंड में 39 प्लेयर के साथ प्लेयर अपनी मर्जी से किसी भी आयरलैंड में जा सकते हैं और अपनी मर्जी के वैपंस से खेल सकते हैं। प्लेयर को सेफ जोन में रहकर आखिरी तक जीवित रहना होता है जो टीम आखिरी तक जीवित रहती है वह जीत जाती है। फ्री फायर 500 मिलियन बार डाउनलोड किया गया है।