भोपाल : जब सड़क पर निकले पुलिस अधिकारियों को देखकर चौंक गए लोग

भोपाल, रवि नाथानी। राजधानी भोपाल और आस-पास के क्षेत्रों में बढ़ते अपराधिक घटनाओं और त्यौहारों को देखते हुए पुलिस महानिदेशक ने शनिवार को आदेश निकाला। इस आदेश में कहा गया कि राजधानी की सुरक्षा व्यवस्था चुस्त बनी रहे इस लिए पुलिस के आला अधिकारी सडक़ों पर भ्रमण करे, ताकि अपराधियों में पुलिस का खौफ बना रहे। इसी के मद्दे नजर भोपाल एसपी ने बैरागढ़, परवलिया, खजूरी, गांधी नगर में पैदल भ्रमण किया। इस पैदल भ्रमण की शुरूआत संत नगर के थाने से हुई।

यह भी पढ़ें…. नेमावर : जघन्य हत्याकांड की जांच CBI करेगी, तब तक ट्रायल पर हाईकोर्ट का स्टे

पूरे स्टॉफ के साथ एसडीओपी अंतिमा समाधिया, थाना प्रभारी डी.पी सिंह सहित यह पैदल मार्च बैरागढ़ के बस स्टेंड से निकाला गया, जो संत नगर के मुख्य मार्ग से होता हुआ थाने पर समाप्त हुआ। इस व्यवस्था को करने के पीछे पुलिस का उद्देश्य यह था कि आने वाले रक्षा बंधन के त्यौहार और अन्य त्यौहारों पर किसी तरह की अप्रिय घटना न हो, किसी व्यक्ति को किसी भी तरह की समस्या है तो उसे पुलिस को सूचित करें, ताकि समय रहते अपराध को रोका जा सके। एसपी विजय कुमार खत्री ने कहा कि उच्च अधिकारियों द्वारा दिए गए आदेशों का पूरे तरीके से पालन किया जा रहा है, हमारा प्रयास है कि आने वाले त्यौहार शॉति पूर्ण तरीके से संपन्न हो। उन्होंने कहा पुलिस जनता की सुरक्षा के लिए है, अगर किसी व्यक्ति को किसी भी तरह की परेशानी है तो वो संबंधित थाने में जाकर थाना प्रभारी और अन्य अधिकारियों से इसकि शिकायत कर सकता है।

यह भी पढ़ें… इंदौर : सह-मीडिया प्रभारी दीपक जैन ने लिखा कमिश्नर को पत्र, किया यह अनुरोध !

सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा

पैदल मार्च में सभी अधिकारियों ने सुरक्षा व्यवस्था का जायता भी लिया। साथ ही ये अधिकारी संत नगर के बस स्टेंड और रेल स्टेशन की तरफ भी गये यहां पर मौजूद लोगों से पूछताछ भी की। अधिकारियों ने बताा कि अपराधि की इंट्री इन्ही गेट से होती है,इस लिए इन दो गेट पर सख्ती से पुलिस की छान बीन करना जरूरी है। वहीं इस मार्च में ट्रेफिक व्यवस्था को भी दुरूस्त किया गया,साथ ही वाहन चालकों से नियमों के दायरे में रहकर वाहन चलाने की अपील की।

डीजीपी ने किया भ्रमण

भोपाल के थाना हनुमानगंज, कोतवाली, मंगलवारा, सहित कई अन्य क्षेत्रों में डीजीपी सुधीर कुमार सक्सेना ने भ्रमण किया। इस पैदल मार्च में पुलिस कमिश्नर, एडिशनल पुलिस कमिश्नर, डीसीपी, एडीसीपी, एसीपी और पुराने भोपाल के कई थाना प्रभारी भी मौजूद रहे। इन्होंने पैदल भ्रमण कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा भी लिया। यह मार्च शाम 6 बजे से 8 बजे रात्रि तक चला।