भोपाल : जीत का सेहरा बंधते ही तोड़ी चप्पल न पहनने की कसम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल के जिला पंचायत वार्ड 8 से विजयी विक्रम भालेश्वर ने 7 साल बाद पैरों में जूते-चप्पल पहनें। दरअसल उन्होंने कसम खाई थी कि जब तक वह चुनाव जीत नहीं जाते तब तक वह पैरों में जूते चप्पल नहीं पहनेगें, सात साल के बाद वह हाल ही में जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीते हैं। जिसके बाद उनकी कसम पूरी हुई। लगातार 7 साल से अपनी कसम पर अडिग रहने वाले विक्रम ने चुनाव प्रचार के लिए भी नंगे पैर ही गांव- गांव में प्रचार किया। 

यह भी पढ़ें…. MPPSC : उम्मीदवारों के लिए महत्वपूर्ण सूचना, 18 जुलाई को जारी होंगे एडमिट कार्ड, 24 जुलाई को परीक्षा, 111 पदों पर होनी है भर्ती

विक्रम करीबन 7 साल पहले सिर्फ 62 वोटों से जिला पंचायत सदस्य का चुनाव हार गए थे। इससे पहले वे जिपं और मंडी समिति सदस्यों के दो चुनाव और हार चुके थे। जिसके बाद उन्होंने कसम खा ली थी कि अब जब सर पर जीत का सेहरा बंधेगा, तभी वह पैरों में भी जूते या चप्पल पहनेगे, सात साल के बाद आखिरकार हाल ही में हुए चुनाव में वे 3,137 वोटों से जीत गए। विक्रम ने ठाना था कि उन्हे समाज सेवा करनी है और यही कारण का था कि हार के बावजूद वह जीत के लिए डटे रहें। 38 साल के विक्रम भोपाल के ग्राम भमौरा के रहने वाले किसान हैं। विक्रम एमए तक पढ़े हैं।