सरकारी हास्टल में सात साल के बच्चे की हात्या के मामले की जांच में जुटी पुलिस

भोपाल डीआईजी इरशाद वली

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के पिपलानी थाना क्षेत्र में स्थित एक सरकारी छात्रावास में सात वर्ष के बालक की हत्या के आरोपियों के बारे में पता लगाने के लिए पुलिस की विभिन्न टीमें पूरी ताकत से जुटी हैं। डीआईजी इरशाद वली ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि, आरोपियों के बारे में पता लगाया जा रहा है। उन्होंने स्वयं आज घटनास्थल का मुआयना किया। विधिविज्ञान विशेषज्ञों की मदद भी ली जा रही है। पिपलानी थाना क्षेत्र में स्थित शासकीय अनुसूचित जाति बालक आश्रम में कक्षा पहली के छात्र सूरज खरते का शव आश्रम के बाथरूम में बुधवार की रात्रि में मिला था। अगले दिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में उसकी हत्या की बात सामने आयी।

पुलिस सूत्रों के अनुसार इसके बाद पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर जांच प्रारंभ की। इस बीच जिला प्रशासन ने हास्टल अधीक्षिका रेचल राम को निलंबित कर दिया और घटना की जांच के आदेश दिए। डीआईजी ने बताया कि छात्र की मौत के मामले में उसके परिजनों के बयान भी लिए गए हैं। उसका अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया गया है कि छात्रावास में बालक सूरज खरते का बड़ा भाई दीपक भी रहता है। छात्रावास के कर्मचारियों के बयान भी लिए गए हैं।