कार्यकाल पूरा होने से पहले हटाए गए भोपाल अध्यक्ष, ये रही वजह

भोपाल।
उपचुनाव (by election)से पहले और कोरोनावायरस(corona virus) के संकट के बीच शनिवार को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा (BJP state president VD Sharma) और संगठन महामंत्री सुहास भगत (Organization General Minister Suhas Bhagat) ने नए जिला अध्यक्षों (New district presidents) की सूची जारी कर दी है।भाजपा (bjp) द्वारा भोपाल (bhopal)इंदौर(indore) सहित 24 जिलों के जिला अध्यक्षों की घोषणा की गई है।भोपाल नगर में सुमित पचौरी (sumit pachori) को जिले की कमान सौंपी गई है।

बीजेपी ने सुमित पचौरी को विकास विरानी की जगह भोपाल जिला अध्यक्ष बनाया है। सुत्रों की माने तो विकास विरानी कार्यकाल पूरा होने से पहले ही हटाए दिए गए ।इसके पीछे नेताओं से समन्वय नहीं होने की वजह सामने आ रही है।काफी दिनों से उनका नेताओं से तालमेल नही बैठ रहा था।इतना ही नही पिछले साल जब वीरानी को भोपाल अध्यक्ष बनाया गया था तब भी विरोध की खबरें सामने आई थी। कई नेता शिवराज के बंगले पर पहुंचे थे।

वही भाेपाल में खींचतान के बीच दो दिन पहले जिले के पदाधिकारी अनिल अग्रवाल, राम बंसल, जगदीश यादव और केवल मिश्रा आदि ने प्रदेश अध्यक्ष शर्मा से मुलाकात करके कहा था कि वीरानी को बदला जा रहा है तो नया जिलाध्यक्ष जिले की बाॅडी में से ही होना चाहिए। पार्टी स्तर पर रवींद्र यति के नाम की भी चर्चा हुई, लेकिन पचौरी के नाम पर सहमति बनी। इसके के चलते पचौरी को मौका दिया गया है।

उपचुनाव को देखते हुए यह बीजेपी का बड़ा दांव माना जा रहा है।क्योंकि इसमें भाजपा ने अधिकतर युवा नेताओं के हाथ में कमान सौंपी है। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने इन नियुक्तियों में युवाओं को मौका दिया है। ज्यादातर लोगों की उम्र 40 से 50 के बीच है।सिर्फ सतना में नरेंद्र त्रिपाठी और नरसिंहपुर में अभिलाष मिश्रा को रिपीट किया गया है। इस सूची में युवा मोर्चा में रहे नेताओं को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। इसमें गौरव रणदिवे, दिलीप पांडे, राजू यादव, गौरव सिरोठिया समेत कुछ नेता शामिल हैं।