भोपाल : तिरंगा लगाते बिजली के तार से टकराई पाइप, डाक्टर के एकलौते बेटे की मौत

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में आजादी का जश्न मनाने में जुटे एक युवक की दर्दनाक मौत हो गई, बताया जा रहा है कि राजधानी भोपाल के अयोध्या नगर इलाके में तिरंगा लगा रहे प्लस वन केयर हॉस्पिटल के डायरेक्टर की करंट लगने से मौत हो गई। अस्पताल मालिक करीबन 20 फीट लंबे लोहे के पाइप में तिरंगा लगाने अस्पताल की छत पर गए। छत पर बारिश का पानी भरा होने की वजह से उनका पैर फिसल गया। वह असंतुलित होकर गिर गए और लोहे का पाइप पास से गुजरी 11केवी बिजली लाइन से टच हो गया। करंट का झटका लगने से उनकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें…. सांसद विवेक तंखा ने लिखा CM शिवराज को पत्र-कारम बांध मामलें की जांच CBI से करवाने की मांग

घटना सोमवार सुबह 6 बजे की बताई जा रही है, न्यू शारदा नगर निवासी 33 साल का अंशिल राजन जान अपने माता पिता का एकलौता बेटा था, अंशिल बेंगलुरु की आईटी कंपनी से इंजीनियरिंग की जॉब छोड़कर मार्च 2022 में अयोध्या नगर में प्लस वन केयर नाम से अस्पताल खोला था। वह इसी अस्पताल के सेकंड फ्लोर पर वह पत्नी दिपाली शर्मा, चार साल के बेटे के साथ रहते थे। पत्नी के अनुसार अंशिल सोमवार सुबह छत पर तिरंगा लगाने गए, वही पत्नी नहाने चली गई, पत्नी दीपाली के अनुसार अचानक कुछ देर बाद बिजली में शॉर्ट सर्किट होने की जोर से आवाज आई। किसी अनहोनी के डर से जैसे ही दीपाली छत पर पहुंची तो आगे नज़ारा देखकर हैरान रह गई, छत पर पति बेसुध हालत में पड़े मिले। दीपाली ने शोर मचाकर अस्पताल के स्टाफ को बुलाया। गंभीर हालत में परिजन उन्हें अयोध्या नगर इलाके के निजी अस्पताल में लेकर पहुंचे। डॉक्टर ने चेक करने पर मृत घोषित कर दिया।

यह भी पढ़ें… Indore : दहेज का शिकार हुई महिला पुलिसकर्मी, पति ने कहा- जहर पिला कर मार दूंगा

गौरतलब है कि अंशिल के पिता डॉ. राजन जान शहर के चर्चित डॉक्टर हैं। वह मिनाल रेसीडेंसी में रहते हैं। एकलौते बेटे अंशिल बेंगलुरु की एक बड़ी आईटी कंपनी में इंजीनियर थे। कुछ समय पहले ही अंशिल ने Aपण माता पिता के पास वापस लौटने का फैसला किया था, वह भोपाल आ गए। उन्होंने खुद के रोजगार के लिए न्यू शारदा नगर में अस्पताल खोला। अभी अस्पताल पूरी तरह से कंपलीट भी नहीं हुआ था कि इस हादसे ने उसकी जान ले ली।