भोपाल : स्वामी पुरुषोत्तमानंद महाराज की भूमिगत समाधि जारी, देखने लोगों का लगा हुजूम

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। भोपाल में स्वामी पुरुषोत्तमानंद महाराज की कथित समाधि को 24 घंटे से भी ज्यादा समय बीत चुका है लेकिन अब तक पुलिस या प्रशासन की तरफ़ से कोई भी समाधि स्थल पर नहीं पहुंचा है, जबकि प्रशासन ने साफ तौर पर महाराज को समाधि लेने से मना कर दिया था। स्वामी पुरुषोत्तमानंद  ने 72 घंटे के लिए भू-समाधि ले रखी है। 24 घंटे से अधिक समय से वे 7 फीट गहरे गड्ढे में तपस्या में लीन हैं। शुक्रवार को वह समाधि स्थल के गड्‌ढे में चले गए थे जिसके बाद गड्डे को ऊपर से लकड़ी के पटिए और मिट्‌टी से ढंक दिया गया है। महाराज के गड्डे में जाने के बाद मौके पर पूजा पाठ चल रहा है। वही बड़ी संख्या में भक्त भी समाधि स्थल पर पहुंच रहे हैं।

यह भी पढ़ें… Indore : कार शोरूम के मैनेजर ने कंपनी के साथ की बड़ी धोखाधड़ी, शेयर मार्केट में लगाए पैसे

गौरतलब है कि कि साउथ टीटी नगर स्थित मां भद्रकाली विजयासन दरबार में महाराज शुक्रवार सुबह 10 बजे 5 बाय 6 के 7 फीट गहरे गड्‌ढे में साधना के लिए बैठे। वे 3 अक्टूबर को सुबह 10 बजे गड्‌ढे से बाहर आएंगे। महाराज के गड्‌ढे में बैठते ही बाहर मौजूद लोगों ने गड्‌ढे के ऊपर लकड़ी के पटिए रख दिए, इसके बाद इस पर मिट्‌टी की परत चढ़ा दी गई। इस दौरान पुलिस और प्रशासन के अधिकारी भी मौजूद थे। हालांकि महाराज और उनके परिजनों का कहना है कि वह स्थाई समाधि नहीं ले रहे है बल्कि नवरात्रि में पूजन के दौरान वह 72 घंटों के लिए समाधि लेंगे। कुछ दिनों पहले से ही यह खबर पुलिस और प्रशासन तक भी पहुंची थी महाराज के समाधि लेने की भनक लगने पर पुलिस उनके निवास स्थल भी पहुंची। पुलिस ने समाधि नहीं लेने के लिए उनसे आग्रह किया। महाराज इसे अपना संकल्प बताते हुए नहीं माने। महाराज का कहना था कि उन्होंने समाधि लेने के लिए प्रशासन से लिखित में अनुमति मांगी थी, लेकिन नहीं मिली। हालांकि अब महाराज 24 घंटे से ज्यादा समय से समाधि में लीन है लेकिन पुलिस या प्रशासन ने कोई सुध नहीं ली है।