digvijay singh

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट
मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में बढ़ रही बेरोजगारी के मुद्दे पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने सरकार से बड़ी मांग कर दी है| उन्होंने मांग की है कि प्रदेश के मूलनिवासी होने के साथ ही 10वीं और 12वीं कक्षा मध्य प्रदेश से पास करने वालों को ही शासकीय नौकरी में लिया जाए|

दिग्विजय सिंह ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि मध्यप्रदेश के बेरोजगारी की समस्या बढ़ती जा रही है। जिनके पास रोज़गार थे, वे भी कोरोना काल में बेरोजगार होते जा रहे हैं। उन्होंने मांग की है कि सरकार उन्हीं लोगों को नौकरी में ले, जिन्होंने 10वीं की परीक्षा मध्य प्रदेश से पास की हो।

दिग्विजय सिंह ने कहा स्थानीय युवाओं की मदद के लिए हमने नियम बनाए थे, मेरे मुख्यमंत्री कार्यकाल में यह नियम था कि 10वीं और 12वीं की परीक्षा प्रदेश से पास करने वाले लोगों को शासकीय सेवाओं में वरीयता दी जाएगी। लेकिन बीजेपी की सरकार ने इसे हटा दिया है। जिसके कारण मध्य प्रदेश के युवाओं के साथ धोखा हुआ|