MP सरकार की बड़ी पहल: दूसरे राज्यों से हजारों मजदूर हुए रवाना, गुजरात से सबसे अधिक

371

 

कोरोना वायरस महामारी के चलते मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) में रहने वाले कई सारे मजदूर दूसरे राज्यों में फंसे है, वहीं देशभर में कोरोना महामारी से निपटने के लिए लॉकडाउन 3 मई तक बढ़ा दिया गया है।  इस बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने अब एक बड़ा कदम उठाया है, मजदूरों को सही सलामत उनके घरों तक पहुचाने के लिए उन्होनें अब उत्तर प्रदेश, गुजरात, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान के मुख्यमंत्रियों से बातचीत की है। इस बीच अच्छी खबर यह है कि 2 हज़ार से ज्यादा मजदूर अब तक गुजरात से मध्यप्रदेश अपने घर वापस लौट चुके है। राज्य के झाबुआ ज़िले के पिटोल बार्डर पर मजदूरों के पहुचने का सिलसिला लगातार जारी हैं। कुल मिलाकर 17 बसें गुजरात से मजदूरों को लेकर यहां पहुच चुकी है। बॉर्डर पर पहुचते ही सभी मजदूरों का स्वास्थय परिक्षण भी किया जा रहा हैं।

वहीं दूसरी ओर राजस्थान से भी मजदूरों के आने का सिलसिला लगातार जारी हैं। अन्य राज्यों से भी मजदूरों को वापस बुलाए जाने का प्रयास किया जा रहा है। शिवराज सरकार का कहना है कि सभी मजदूरों के प्रदेश वापस लोटते ही उन्हें क्वारेंटाइन किया जाएगा, सभी मजदूरों की स्क्रीनिंग स्वास्थय परिक्षण द्रारा करवाई जाएगी जिसके बाद उन्हें होम क्वारेंटाइन किया जाएगा। इस बीच सरकार का यह भी कहना है कि आवश्यकता होने पर वापस लौटे मजदूरों को गांव के बाहर बने केन्द्र में भी रखा जा सकता है। सरकार ने गांव वालों से अनुरोध किया है कि वह इस मुश्किल घड़ी में अपने मजदूर भाइयों का सहयोग करें।

मध्यप्रदेश सरकार की तरफ से अब ई-पास की व्यवस्था भी की गई हैं, इसका फायदा उन परिवारों को मिल सकेगा जिनके बच्चे अन्य राज्यों के अन्य जिलों में हैं। ई-पास के लिए लिंक भी सरकार ने जारी कर दिया है- https://mapit.gov.in/covid-19/ इस लिंक का इस्तेमाल कर वह अपने घर लौट सकेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here