कांग्रेस को महंगी पड़ी यह चूक, भाजपा चुनाव में बनाएगी मुद्दा

big-mistake-of-Congress-BJP-will-make-issue-in-loksabha-elections

भोपाल। मंदसौर गोलीकांड का मामला एक बार फिर सुर्खियों में है। कांग्रेस सरकार द्वारा विधानसभा में मंदसौर गालीकांड मामले में तत्कालीन सरकार को जिस तरह से क्लीनचिट दी है, उससे कांग्रेस में अंतर्कलह मच गई है। यही वजह है कि गृह मंत्री बाला बच्चन को सदन में दिए गए जवाब के उलट बाहर यह बताना पड़ा कि मंदसौर गोलीकांड में किसी को क्लीनचिट नहीं दी गई है। अब भाजपा ने कांग्रेस सरकार के इस रवैए को चुनाव में मुद्दा बनाने की तैयारी कर ली है। जल्द ही भाजपा किसानों के बीच जाकर यह प्रचारित करेगी कि कांग्रेस ने मंदसौर गोलकांड में मारे गए किसानों के  नाम पर सिर्फ राजनीतिक रोटियां सेकीं। भाजपा किसानों के मुद्दे को लोकसभा में भुनाने की पूरी में जुट गई है। 

कर्जमाफी का आदेश निकालकर किसानों का हितैषी होने का दावा करने वाली कमलनाथ सरकार ने मंदसौर गोलीकांड को क्लीनचिट देकर भाजपा को बड़ा चुनावी मुद्दा दे दिया हैं। लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा कांग्रेस की झूठ को जनता के बीच उजाकर करेगी। जल्द ही भाजपा किसानों के बीच जाने के लिए कार्यक्रम तय करने जा रही है। जिसमें कर्जमाफी के झूठे वादे से लेकर किसानों की हत्या पर राजनीति करने के आरोप कांग्रेस पर लगाए जाएंगे। भाजपा अब मंदसौर गोलीकांड को प्रदेश में चुनाव मुद्दा बनाएगी। जल्द ही भाजपा इस मसले को लेकर बड़ी बैठक करने जा रही है। आज विधानसभा में भी भाजपा विधायकों ने सरकार के इस दोहरे रवैए पर कांग्रेस सरकार को आड़े हाथ लिया। 

…तो कांगे्रस ने सिर्फ  राजनीतिक रोटिया सेंकी

विधानसभा में मंदसौर गोलकांड के फैसले को सही ठहराकर कांग्रेस की पोल खुलती नजर आ रही है। क्योंकि कांग्रेस ने गोलीकांड के बाद से ही किसानों का मुद्दा पकड़ लिया था। जिस पर कांग्रेस ने प्रदेश भर में तमाम आंदोलन किए थे। लेकिन विधानसभा में दिए गए जवाब से कांग्रेस अब विपक्ष के निशाने पर आ गई है। जो कांग्रेस विपक्ष में रहकर भाजपा सरकार पर हत्यारोपी होने का आरोप लगाती थी, उसी कांगे्रस ने सरकार में आने के बाद क्लीनचिट दे दी है। 

राहुल गांधी ने गोलीकांड को बनाया था मुद्दा 

मंदसौर गोलीकांड की बरसी 6 जून 2018 को कांगे्रस ने पिछले साल मंदसौर के हाटपीपल्या में बड़ी रैली एवं शोकसभा की थी। जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऐलान किया था कि मप्र में कांग्रेस की सरकार आने पर 10 दिन के भीतर किसानों का कर्जा माफ कर दिया जाएगा। साथ ही किसानों पर लादे गए सभी केस वापस किए जाएंगे। कांग्रेस ने मंदसौर गोलीकांड को चुनाव में हर से भुनाने की कोशिश की। अब जब कांग्रेस सत्ता में है  और मंदसौर गोलकांड को लेकर जो जवाब विधानसभा में पेश किया है, उसमें गोली चलाने के आदेश देने वाले सभी अधिकारियों को निर्दोष बताया है।

कांग्रेस पार्टी हमेशा से ही गलत बयानवाजी करती आई है। मंदसौर गोलीकांड, पौधरोपण या फिर सिंहस्थ घोटाला कांग्रेस की सरकार ने ही क्लीनचिट दे दी है। जबकि कांग्रेस इन्हीं मुद्दों को लेकर भाजपा पर आरेाप लगाती रही है। कांग्रेस को किसान और मजूदरों से कोई वास्ता नहीं है। कांग्रेस ने किसानों के नाम पर सिर्फ राजनीति की है। मंत्रियों ने जिस तरह से विधानसभा में जवाब दिए हैं, उससे कांग्रेस का दोहरा चरित्र एक बार फिर जनता के बीच उजागर हो गया है। भाजपा चुनाव से पहले जनता को बताएगी कि कांग्रेस सत्ता के लिए किस तरह की दोहरी राजनीति करती है। 

दीपक विजयवर्गीय, मुख्य प्रवक्ता, मप्र भाजपा