कांग्रेस ने मानी हार! रामनिवास बोले-सरकार बचने के 50-50 चांस

amount-of-7-thousand-distributed-tribal-women-before-election--Congress-MLA-compalain-ec-

भोपाल।
सियासी उठापठक के बीच कांग्रेस(congress) के दिग्गज नेता और सिंधिया(sindia) की खास समर्थक माने जाने वाले रामनिवास रावत (ramniwas rawat)का बड़ा बयान सामने आया है।निवास का कहना है कि मौजूदा घटनाक्रम को देखते हुए सरकार बचने के फिफ्टी फिफ्टी परसेंट चांस है।खास बात ये है कि पहली बार किसी कान्ग्रेसी ने ऐसा बयान दिया है।वही ज्योतिरादित्य की जमकर खिंचाई करते हुए कहा कि पद के लिये पार्टी छोड़ी है।केन्द्र मे पार्षद बन जाएंगे। विभीषण कहकर शिवराज ने ओहदा बता दिया । जितने पार्टी छोङकर गये, सब हारेगे ।

रामनिवास ने कहा कि लोग चाहे कुछ भी बोले मैं कांग्रेस पार्टी को छोड़कर कही नही जा सकता। मेरी विचारधारा बीजेपी से नही मिल सकती ।रावत का ये बयान उस समय आया है जब सिंधिया के बीजेपी में जाते ही प्रदेशभर में सिंधिया समर्थकों ने एक के बाद एक कांग्रेस से इस्तीफा देना शुरू कर दिया। अबतक सैकड़ों की संख्या में सिंधिया समर्थकों ने कांग्रेस से इस्तीफा दे दिया।

रामनिवास का कहना है कि मैं कांग्रेसी था कांग्रेसी हूं और रहूंगा।हाल के घटनाक्रम को लेकर मुझे सोनिया गांधी राहुल गांधी मुख्यमंत्री कमलनाथ दिग्विजय सिंह ने राज्यसभा चुनाव लड़ने का ऑफर दिया था, मैंने पूरी निष्ठा के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया के साथ काम किया। लोग यह आरोप लगाते मैंने राज्यसभा के लालच में सिंधिया जी का साथ छोड़ा है इसलिए मैंने राज्यसभा का टिकट ठुकरा दिया।उन्होंने वैचारिक जो निर्णय लिया है मैं उनके साथ नहीं। हमने ज्योतिरादित्य सिंधिया को नहीं छोड़ा है सिंधिया जी हमें छोड़ कर गए हैं।