दिव्यांग स्टूडेंट्स की स्कॉलरशिप पर बड़ी अपडेट, सरकार ने जारी किये आदेश

दिव्यांगजन सशक्तिकरण, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिव्यांग विद्यार्थियों के लिये संचालित प्री-मेट्रिक, पोस्ट मेट्रिक और टॉप क्लास छात्रवृत्ति योजना में ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। शासकीय विद्यालयों में पढ़ने वाले दिव्यांग स्टूडेंट्स (Disabled Students)  के लिए सरकार द्वारा दी जाने वाली छात्रवृत्ति यानि स्कॉलरशिप (Scholarship for Disabled Students) के लिए सरकार ने आवेदन पत्र आमंत्रित किये हैं। ये आवेदन पत्र राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल (National Scholarship Portal) www.scholarships.gov.in पर ऑनलाइन मांगे गए हैं। इनकी तारीखों की भी घोषणा कर दी गई है।

दिव्यांगजन सशक्तिकरण, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय द्वारा दिव्यांग विद्यार्थियों के लिये संचालित प्री-मेट्रिक, पोस्ट मेट्रिक और टॉप क्लास छात्रवृत्ति योजना में ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं। छात्र-छात्राएँ राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल www.scholarships.gov.in पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। प्री-मेट्रिक छात्रवृत्ति के लिये आवेदन की अंतिम तिथि 30 सितम्बर और पोस्ट मेट्रिक तथा टॉप क्लास छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर 2022 है। सभी छात्रवृत्तियों के लिये सक्षम चिकित्सा प्राधिकारी द्वारा जारी 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगता का प्रमाण-पत्र अनिवार्य है।

ये भी पढ़ें – यहां पढ़िए 1 सितंबर की मध्य प्रदेश की सभी बड़ी खबरें, केवल एक क्लिक पर

कक्षा 9वीं एवं 10वीं के छात्र-छात्राओं के लिये प्री-मेट्रिक छात्रवृत्ति में अभिभावक की वार्षिक आय ढाई लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। छात्रावास में नहीं रहने वालों के लिये 500 रुपये प्रतिमाह और छात्रावास में रहने वालों के लिये 800 रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति के साथ प्रतिवर्ष 1000 रुपये पुस्तक अनुदान और 2 से 4 हजार रुपये तक दिव्यांगता भत्ता दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें – सोमनाथ, द्वारिका के साथ देखिये Statue Of Unity, IRCTC ने नया टूर प्लान अनाउंस किया

पोस्ट मेट्रिक छात्रवृत्ति कक्षा 11वीं से स्नातकोत्तर डिग्री/डिप्लोमा के छात्र-छात्राओं के अभिभावक की वार्षिक आय भी ढाई लाख रुपये से अधिक नहीं होनी चाहिए। विभिन्न विषयों में डिप्लोमा, डिग्री से संबंधित स्नातकोत्तर, स्नातक, डिप्लोमा, व्यावसायिक पाठ्यक्रम के लिये रख-रखाव भत्ते की दरें भी अलग-अलग हैं। छात्रावास में रहने वाले स्टूडेंट्स  के लिये 900 से 1600 रुपये, छात्रावास में नहीं रहने वाले स्टूडेंट्स के लिये 550 से 750 रुपये प्रतिमाह सहित ट्यूशन शुल्क अधिकतम डेढ़ लाख रुपये, पुस्तक भत्ता 1500 रुपये  और दिव्यांगता भत्ता 2 हजार से 4 हजार रुपये प्रतिवर्ष दिया जाएगा।

ये भी पढ़ें – Numerology 2 September: इन तारीखों पर जन्में लोगों के लिए शुक्रवार का दिन होगा वरदान, यहाँ जानें अपना लकी नंबर और शुभ रंग

टॉप क्लास छात्रवृत्ति योजना में उत्कृष्टता के 240 अधिसूचित संस्थानों में स्नातक/स्नातकोत्तर डिग्री अथवा डिप्लोमा दिव्यांग छात्रों को लाभान्वित किया जाएगा। इसमें अभिभावक की वार्षिक आय 6 लाख रुपये से कम होनी चाहिए। छात्रावास  में रहने वालों के लिये 3 हजार रुपये, छात्रावास में नहीं रहने वालों के लिये 1500 रुपये मासिक रख-रखाव भत्ता, 2 हजार रुपये प्रतिमाह दिव्यांगता भत्ता, 5 हजार रुपये प्रति वर्ष पुस्तक अनुदान और 2 लाख रुपये प्रति वर्ष ट्यूशन फीस देय होगी।

ये भी पढ़ें – Mahindra XUV400 इलेक्ट्रिक SUV का सस्पेंस खत्म, आनंद महिंद्रा ने बताई लॉन्चिंग तारीख

राज्य स्तर पर प्रदेश के सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग द्वारा इन छात्रवृत्ति योजनाओं का अनुश्रवण किया जा रहा है। अधिक जानकारी के लिये केन्द्र सरकार की वेबसाइट www.disabilityaffairs.gov.in, राष्ट्रीय छात्रवृत्ति पोर्टल www.scholarships.gov.in और विभागीय वेबसाइट www.socialjustice.mp.gov.in प्राप्त की जा सकती है।