बीजेपी का आरोप- रेत माफियाओं को संरक्षण दे रहे हैं कांग्रेस नेता, कार्रवाई करे कमलनाथ सरकार

भोपाल।

बुधवार को सोशल मीडिया पर कांग्रेस विधायक  ऐदलसिंह कंषाना का एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें वे कहते नजर आ रहे थे कि वीडियो तुम लोग ट्रक से शहर में रेत मत ले जाया करो, ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से ले जाया करो। जिसको लेकर भाजपा ने कांग्रेस पर जमकर हमला बोला है। भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कांग्रेस और उनके नेताओं पर माफियाओं को संरक्षण देने का गंभीर आरोप लगाया है। रजनीश ने कहा है कि कांग्रेस और उसके नेता रेत माफिया को संरक्षण देते रहे हैं और जनता का ध्यान बंटाने के लिए आरोप  भाजपा पर मढ़ते रहे हैं। कांग्रेस विधायक कंषाना के वायरल हुए वीडियो से यह बात साबित हो गई है।

रजनीश अग्रवाल ने कहा कि मुरैना जिले के सुमावली से यह वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। इस वीडियो में कंषाना पंचायत में बैठे ग्रामीणों और अन्य लोगों से यह कहते दिखाई दे रहे हैं कि तुम लोग ट्रक से शहर में रेत मत ले जाया करो, ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से ले जाया करो। इस वीडियो से साबित होता है कि कांग्रेस के विधायक और उनके साथी किस तरह नियमों का उल्लंघन करते हुए उद्दंडता का रवैया अपना रहे हैं। वीडियो से यह भी स्पष्ट है कि कांग्रेस नेता किस तरह रेत माफिया को संरक्षण दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पहले भी रेत माफिया को संरक्षण देती रही है, जिनका टकराव पूर्ववर्ती भाजपा सरकार के समय व्यवस्थाएं संभाल रहे अधिकारियों-कर्मचारियों से होता रहा है।  अवैध उत्खनन पर कार्रवाई करने के अधिकारियों पर बरसने वाले प्रदेश के खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल अगर वास्तव में इस कारोबार पर नकेल कसना चाहते हैं, तो अपनी पार्टी के विधायक कंषाना के खिलाफ कार्रवाई करके दिखाएं।  

गौरतलब है कि बुधवार को सोशल मीडिया पर कांग्रेस विधायक ऐंदल सिंह कषाना का एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें वे कहते नजर आ रहे थे कि तुम लोग शहर में ट्रकों से रेत मत डालना, ट्रैक्टर-ट्रॉलियों से डालना। जबकी सुप्रीमकोर्ट और हाईकोर्ट ने चंबल रेत का अवैध उत्खनन करने पर रोक लगा रखी है। वही बीते दिनों ही खनिज मंत्री प्रदीप जायसवाल ने अधिकारियों को फटकार लगाते हुए अवैध खनन पर रोक लगाने और दोषियों पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। ऐसे में विधायक का ये वीडियो सरकार के नई मुसीबत खड़ी कर रहा है, हालांकि कांग्रेस की तरफ से इस वीडियो पर अभी कोई सफाई नही आई है।वही बीजेपी हमलावर हो चली है और माफियाओं को सरंक्षण के आरोप लगा रही है।