‘किसानों को लाठियां नहीं, यूरिया दे कांग्रेस सरकार’

bjp-attack-on-congress-government-

भोपाल। प्रदेश में यूरिया की मांग कर रहे किसानों पर पुलिस का लाठीचार्ज निंदनीय और अनुचित है। अपनी नाकामी को छुपाने के लिए सरकार किसानों के विरोध को कुचलना चाहती है। कांग्रेस सरकार का यह रवैया अलोकतांत्रिक है। किसानों की हितैषी होने का दावा करने वाली कांग्रेस सरकार को चाहिए कि वह अन्नदाता की जायज मांग को पूरा करने के लिए उसे यूरिया दे, लाठियां नहीं। यह बात मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता राजपाल सिंह सिसौदिया ने कही।

सिसौदिया ने कहा कि केंद्र सरकार से मध्यप्रदेश को बिना किसी भेदभाव के यूरिया का आवंटन किया गया है। यह कमलनाथ सरकार की नाकामी है कि वह मांग के हिसाब से यूरिया का वितरण नहीं कर पाई, जिसके कारण प्रदेश में यूरिया संकट की स्थिति निर्मित हुई है। सिसौदिया ने कहा कि यूरिया न मिलने के कारण किसान अपनी फसलों को पानी नहीं दे पा रहे हैं, जिससे कृषि उत्पादन बुरी तरह प्रभावित होने की आशंका बन रही है। चिंतातुर किसान यूरिया की मांग को लेकर जगह जगह विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। कमलनाथ सरकार एक तरफ तो किसानों को यूरिया उपलब्ध नहीं करा पा रही है, वहीं विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को दबाने के लिए किसानों पर लाठीचार्ज करवा रही है। श्री सिसौदिया ने कहा कि किसानों के हमदर्द होने का दम भरने वाले सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया भी अपने संसदीय क्षेत्र में किसानों पर पुलिस को लाठियां भांजते चुपचाप देखते रहे। इससे जाहिर है कि किसानों के प्रति उनकी हमदर्दी दिखावटी थी और सिर्फ चुनाव तक ही सीमित थी।