bjp-compalaint-in-election-commission-against-minister-pc-sharma

भोपाल| लोकसभा चुनाव में नेताओं की बयानबाजियां इन दिनों चर्चा में है, जिसको लेकर विवाद भी खड़ा हो रहा है| कमलनाथ सरकार में मंत्री पीसी शर्मा के बूथ जिताओ नौकरी पाओ के नारे पर भाजपा ने आपत्ति जताई है| बीजेपी के प्रतिनिधिमंडल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को इसकी शिकायत की है और मंत्री पीसी शर्मा, भोपाल लोकसभा क्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह, कांग्रेस जिला अध्यक्ष कैलाश मिश्रा और मंत्री जयवर्धन सिंह के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है| 

दरअसल, बुधवार को नर्मदा में आयोजित कांग्रेस कार्यकर्ताओं की बैठक में मंत्री पीसी शर्मा ने कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए ‘बूथ जिताओ, नौकरी पाओ’ का नारा दिया था। मंत्री शर्मा ने कहा था 284 बूथ है और इन बूथ के कार्यकर्ताओं के लिए नौकरी, व्यवसाय की व्यवस्था करेंगे| इसको लेकर सवाल उठे थे, लेकिन मंत्री पीसी शर्मा अपने बयान पर अडिग रहे| इस बीच भाजपा ने इस पर आपत्ति जताते हुए चुनाव आयोग में मंत्री पीसी शर्मा के खिलाफ आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की है| 

मध्य प्रदेश भाजपा के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से मुलाकात शिकायती आवेदान सौंपा है| जिसमे उन्होंने कहा गया मंत्री पीसी शर्मा द्वारा कांग्रेस कार्यकर्ताओं को जिसमें अनेक बाहर के लोग भी उपस्थित थे को संबोधित करते हुए शर्मा ने कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने पर बूथ पर कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं को नगर निगम में नौकरी का ऑफर दिया और वहां इस प्रकार की मीटिंग में नारे भी लगाए गए, बूथ जिताओ और नौकरी पाओ इस कार्यक्रम में कांग्रेस पार्टी के घोषित प्रत्याशी दिग्विजय सिंह भी उपस्थित थे उनकी मौजूदगी में यह नारे लगाए गए  और नगरीय निकाय मंत्री जयवर्धन सिंह की उपस्थिति में यह बोला गया|  बीजेपी ने कहा है कि आदर्श आचार संहिता के अंतर्गत इस प्रकार का ऑफर नहीं दिया जा सकता और यह ऑफर स्पष्ट रूप से भ्रष्ट आचरण की श्रेणी में आता है | समाचार पत्र में इससे संबंधित चित्र भी छपा है जिसमें दिग्विजय सिंह और जिला कांग्रेस अध्यक्ष कैलाश मिश्रा की भी उपस्थिति प्रकट होती है | भाजपा ने चुनाव आयोग से पी सी शर्मा, दिग्विजय सिंह, कांग्रेस जिला अध्यक्ष कैलाश मिश्रा और जयवर्धन सिंह के विरुद्ध  आचार संहिता के उल्लंघन करने संबंधी कार्रवाई करने की मांग की गई है|