एमपी में गुंडे -मवाली की सरकार, बीजेपी कार्यकर्ताओं को फंसाया जा रहा : सावित्री ठाकुर

BJP-dhar-parliamentarian-controversial-statement-on-congress

भोपला। मंदसौर नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बधवार के हत्याकांड पर राजनीति तेज हो गई है। धार से बीजेपी की सांसद ने कांग्रेस सरकार पर बड़ा हमला बोला है। उन्होंने एक विवादित बयान देकर इस मामले को और भड़का दिया है। मीडिया से चर्चा के दौरान बीजेपी सांसद सावित्रि ठाकुर ने कहा कि ये लंगड़ी सरकार है इसका कोई भरोसा नहीं है। क्राइम कांग्रेस वाले करते हैं और बीजेपी के कार्यकर्ताओं को फंसाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि ये सरकार गुंडों-मवाली की सरकार है। उन्होंने कहा कि सारे क्राइम कांग्रेस वाले करते हैं और फंसाया बीजेपी वालों को जा रहा है। 

दरअसल, गुरूवार देर रात मंदसौर में नगर पालिका अध्यक्ष प्रहलाद बधवार को गोली मार कर हत्या कर दी गई। आपसी रंजिश के तहत जिसने गोली मारी वह बीजेपी का ही कार्यकर्ता बताया जा रहा है। उसके फोटो कई बीजेपी नेताओं के साथ भी सामने आए हैं। इस पूरे मामले पर जब धार सांसद से सवाल किया गया तो उन्होंने इस पर कांग्रेस को ही जिम्मेदार ठहरा दिया। उन्होंने विवादित बयान देकर कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए हैं।

गौरतलब है कि इस हत्याकांड में बीजेपी कार्यकर्ता का नाम सामने आने के बाद से पार्टी नेता बैकफुट पर नजर आ रहे हैं। शुक्रवार को पूर्व सीएम शिवराज ने मुख्यमंत्री कमलनाथ को एक पत्र लिखा था। उन्होंने प्रदेश में बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए थे। उन्होंने कहा था कि प्रदेश में अपराधियों के हौसले बुलंद होते जा रहे हैं। शिवराज ने  मांग की है कि प्रह्लाद बंधवार की हत्या मामले की उच्च स्तरीय जांच की जाए। वही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज के पत्र का जवाब दिया है और उचित कार्रवाई का आश्वसन दिया है, साथ ही इस पत्र को राजनैतिक हथकंडा बताते हुए लिखा है चिंता मत करिए मेरी सरकार क़ानून व्यवस्था के पालन को लेकर गंभीर है।  बाद में बीजेपी कार्यकर्ता का नाम सामने आने के बाद बीजेपी नेताओं ने कन्नी काटना शुरू कर दी। 

कांग्रेस प्रवक्ता संगीता शर्मा ने इस मामले पर शिवराज पर पलटवार किया। उन्होंने हमला बोलते हुए कहा कि भाजपा नेता की भाजपा कार्यकर्ता ने हत्या की और पूर्व CM शिवराज पत्र लिख रहे है की अपराधियों के हौसले बुलंद है, मामा जी आप अपने संगठन से हिंसावादी सोच बढ़ने की घटना के लिए एक पत्र अमित शाह जी को लिखे अपने संगठन के नेताओं को समझाइये की अब दो कानून वाली सरकार नहीं है। पहले भाजपा नेता अपराध करते थे जब उन्हें भाजपा नेता को संरक्षण देने वाले दूसरे कानून से बचा लिया जाता था और कांग्रेस पार्टी को आपराधिक तत्व बोलकर खुद को क्लीन चिट देकर प्रदेश की जनता के सामने खुद को निर्दोष दिखा दिया करते थे।