राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपत्नी कहने पर भड़की BJP, सीएम शिवराज ने कही बड़ी बात, संसद में भी हंगामा

अधीर रंजन के बयान को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निकृष्ट मानसिकता वाला घटिया स्टार का बताया है।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। देश की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू (President Draupadi Murmu)को कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी (Congress MP Adhir Ranjan Chowdhury’s statement)  द्वारा राष्ट्रपत्नी कहने के बाद देश की राजनीति में उबाल आ गया है। कांग्रेस जहाँ अधीर रंजन का बचाव करते हुए इसे उनकी जुबान फिसलना कह रही है तो वहीं भाजपा इसे राष्ट्रपति पद, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू और आदिवासी समाज की बहनों का अपमान कह रही है। अधीर रंजन के बयान को मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निकृष्ट मानसिकता वाला घटिया स्टार का बताया है।

दरअसल कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से ED द्वारा की जा रही पूछताछ का विरोध कर रही कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी से बुधवार को मीडिया ने सवाल किया था कि आप राष्ट्रपति भवन जा रहे आपको जाने दिया गया? तब उन्होंने कहा था कि आज फिर जाने की कोशिश करेंगे। हिंदुस्तान की राष्ट्रपत्नी (Congress MP Adhir Ranjan Chowdhury calls Draupadi Murmu Rashtrapatni) सबके लिए है हमारे लिए क्यों नहीं?

ये भी पढ़ें – RBI ने दिया बैंकों को सुझाव, बैंक में नहीं होगा कागज का इस्तेमाल! ग्राहकों को मिलेगा इन सुविधाओं लाभ, जानें

कांग्रेस नेता के इस बयान के बाद भाजपा ने इसपर आपत्ति जताई। भाजपा(BJP) नेताओं में इस राष्ट्रपति पद और महिलाओं का अपमान बताया और विरोध शुरू कर दिया। आज गुरुवार को जब संसद की कार्यवाही शुरू हुई तो भाजपा ने हंगामा शुरू कर दिया। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) और स्मृति ईरानी (Minister Smriti Irani) ने इसके लिए अधीर रंजन चौधरी और सोनिया गांधी (Congress President Sonia Gandhi) से माफ़ी मांगने के लिए कहा। हंगामे के चलते सदन में भाजपा और कांग्रेस के नेताओं में तीखी नोकझोंक भी हुई।

ये भी पढ़ें – MP Weather : प्रदेश के 46 जिलों में भारी बारिश और बिजली गिरने का येलो अलर्ट, जानें अपने जिले का हाल

उधर मध्य पदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) ने कहा – राष्ट्रपति देश का सर्वोच्च पद है। राष्ट्रपति किसी दल के नहीं होते, राष्ट्रपति पूरे देश के होते हैं। लेकिन कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने जिस निकृष्ट मानसिकता व घटियापन का परिचय दिया है वह अक्षम्य है। उन्होंने भारत के राष्ट्रपति का अपमान किया है। उन्होंने कहा देश कांग्रेस को कभी माफ नहीं करेगा। कांग्रेस की मानसिकता ही जनजाति विरोधी, महिला विरोधी और घटिया है। मैं श्रीमती सोनिया गांधी जी से पूछना चाहता हूं कि क्या वह अधीर रंजन चौधरी के बयान से वह सहमत हैं?