भोपाल। राजगढ़ के ब्यावरा में नागरिकता संशोधन कानून के समर्थन में रैली निकाल रहे भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ कलेक्टर निधि निवेदिता और डिप्टी कलेक्टर प्रिया वर्मा के बीच हुई झड़प के बाद भाजपा आक्रामक रूप में सामने आई। लेकिन राजगढ़ में सभा कर महिला अधिकारियों को घेरने की कोशिश में नेताओं के विवादित बोल से भाजपा खुद घिर गई।

भाजपा नेता बद्रीलाल यादव के कलेक्टर को लेकर दिए गए विवादित बयान से पूरे प्रदेश में बवाल मच गया। न सिर्फ कांग्रेस बल्कि प्रशासनिक अधिकारियों ने भी निंदा की और इस बयान को बेहद शर्मनाक बताया। सोशल मीडिया पर भी बीजेपी की इस बयान को लेकर किरकिरी होने लगी। आखिरकार बढ़ते विवाद के बाद पूर्व राज्यमंत्री बद्रीलाल यादव को माफी मांगनी पड़ी। उन्होंने न्यूज़ चैनल पर अपने बयान को लेकर खेद जताते हुए माफी मांगी। वहीं यह भी कहा कि वे महिलाओं का सम्मान करते है, लेकिन उनके बयान को गलत समझा गया।

भाजपा की रणनीति थी कि महिला अधिकारियों द्वारा जिस तरह बीजेपी कार्यकर्ताओं को थप्पड़ मारे गए। इस मुद्दे के बहाने सरकार को घेरेगी, लेकिन विवादित बयान से भाजपा की ही किरकिरी हो गई। हालांकि भाजपा सरकार और दोनो महिला अधिकारियों के खिलाफ अब भी तीखे तेवर दिखा रही है। वहीं भाजपा नेता के बयान के खिलाफ राजगढ़ जिले के अधिकारियों ने हड़ताल कर दी है। थप्पड़ कांड के वीडियो वायरल होने के बाद शुरू हुआ यह मामला जल्द ही थमने वाला नहीं है। इस पर अभी आगे और भी राजनीति देखने को मिलेगी।