फिर राज्यपाल से मिलने पहुंचे BJP नेता, फ्लोर टेस्ट को लेकर की ये मांग

भोपाल।
मध्यप्रदेश में सत्ता की लड़ाई अपने अंतिम पड़ाव पर पहुंच चुकी है। सोमवार को कमलनाथ सरकार की अग्नि परीक्षा है।विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होना है। सरकार का दावा है कि वह बहुमत है और जादुई आंकड़ा पार करके रहेगी। इसी बीच खबर आ रही है कि बीजेपी नेता एक बार फिर राज्यपाल लाल जी टंडन से मिलने पहुंचे है। नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव और वरिष्ठ विधायक नरोत्तम मिश्रा ने राज्यपाल से इलेक्टानिक वोटिंग ना करवा कर हाथ उठाकर फ्लोर टेस्ट करवाने की मांग की है।

नरोत्तम मिश्रा ने तर्क है कि विधानसभा का इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम ठीक नहीं है इसलिए बटन दबाकर नहीं बल्कि हाथ उठाकर फ्लोर टेस्ट किया जाए ।मतदान के लिए यही प्रक्रिया अपनाई जाए।उन्होने संविधान की अनुसूची 10 का हवाला भी दिया है।इसके लिए उन्होंने राज्यपाल को एक ज्ञापन भी सौंपा है। अब देखना है कि राज्यपाल इसको लेकर क्या फैसले लेते है।बीजेपी विधायकों के वापस आने पर नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि हमारे परिवार के सदस्य जब जरूरत होगी वापस आ जाएंगे। सरकार को फ्लोर टेस्ट कराना ही होगा। राज्यपाल के अभिभाषण के बाद वोटिंग होने पर बोले नरोत्तम मिश्रा कुछ मामलों में हम गलत थे राज्यपाल ने दुरुस्त किया है।

नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव  ने कहा कि विधानसभा में मतदान के लिए इस्तेमाल होने वाले इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम खराब है। इसलिए पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाए। हम चाहते हैं कि हाथ उठाकर बहुमत परीक्षण कराया जाए। भाजपा अपने विधायकों को फ्लोर टेस्ट के लिए व्हिप जारी कर  चुकी है।

फिर राज्यपाल से मिलने पहुंचे BJP नेता, फ्लोर टेस्ट को लेकर की ये मांग