CM के ‘कर्जमाफी’ कार्यक्रम का BJP विधायक-सांसद करेंगे बहिष्कार, कांग्रेस में हड़कंप

bjp-legislator-from-ratlam-will-boycott-cms-debt-waiver-program-in-ratlam

भोपाल/रतलाम।

प्रदेश की कांग्रेस सरकार अपना वादा निभाते हुए आज से कर्जमाफी का पैसा किसानों के खाते में ड़ालने जा रही है। मुख्यमंत्री कमलनाथ खुद रतलाम के नामली से इसका शुभारंभ करेंगें। प्रथम चरण में जय किसान फसल ऋण मुक्ति योजना के तहत रतलाम जिले के 40 हजार से भी ज्यादा किसानों के 134 करोड़ रुपये से अधिक राशि के कर्ज माफ किए जाएंगें।वही विपक्ष की भूमिका निभा रही बीजेपी ने मुख्यमंत्री के कर्जमाफी कार्यक्रम बहिष्कार करने का फैसला किया है। बीजेपी विधायक चेतन्य काश्यप, राजेंद्र पांडेय और दिलीप मकवाना ने बताया है कि वे सभी किसानों की ऋण माफ़ी के इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे, वे इसका बहिष्कार करते है।

दरअसल, आज किसान कर्जमाफी योजना के तहत जिले के 40 हजार से ज्यादा किसानो के लगभग 134 करोड़ रूपए के कर्जेमाफ होंगे। सीएम कमलनाथ रतलाम जिले में 197 करोड़ रुपये की लागत के निर्माण कार्यों का भी लोकार्पण व शिलान्यास करेंगे। वही रतलाम जिले में होने वाले सीएम के इस कार्यक्रम का भाजपा विधायक चेतन्य काश्यप, डॉ. राजेंद्र पांडेय, दिलीप मकवाना, जिलाध्यक्ष राजेंद्रसिंह लुनेरा ने बहिष्कार किया है। बीजेपी विधायक चेतन्य काश्यप, राजेंद्र पांडेय और दिलीप मकवाना ने बताया है कि वे सभी किसानों की ऋण माफ़ी के इस कार्यक्रम में शामिल नहीं होंगे, वे इसका बहिष्कार करते है। उन्होंने बताया पाले से खराब फसलों का मुआवजा दिलाने के लिए प्रतिनिधिमंडल मिलना चाहता था, हमें उत्तर नहीं मिला। इसी बात को लेकर जिले के बीजेपी विधायक सीएम से नाराज है और अब सीएम के इस कार्यक्रम का बायकॉट करने का फैसला किया है। इसमें सांसद सुधीर गुप्ता, डॉ. चिंतामणि मालवीय, जिला पंचायत अध्यक्ष प्रमेश मईड़ा भी शामिल नहीं होंगे। 

समिति में भी नहीं दी जगह

भाजपा लोकसभा चुनाव मीडिया प्रभारी अरूण राव के अनुसार जिले में प्रशासन ने योजना के क्रियान्वय के लिए जो समिति बनाई, उसमे भी जनप्रतिनिधियों को जगह नहीं दी गई। प्रशासन द्वारा किए गए पक्षपातपूर्ण व्यवहार के विरोध में रतलाम जिले के तीनों भाजपा विधायक काश्यप, डॉ. पाण्डेय, मकवाना द्वारा मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का बहिष्कार किया जाएगा। भाजपा के जिलाध्यक्ष लुनेरा ने भाजपा जनप्रतिनिधियों की उपेक्षा को लेकर पार्टी संगठन द्वारा भी मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के बहिष्कार की घोषणा की है।

बता दे कि सत्ता में आने के बाद यह पहला मौका है जब भाजपा के विधायक सांसद सीएम के कार्यक्रम का विरोध करेंगें।पहली बार भाजपा द्वारा राजनैतिक विवादों के चलते सीएम कमलनाथ के कार्यक्रम का विरोध किया जाएगा।इस विरोध के कारण कांग्रेस में हलचल मच गई है, हालांकि सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए है।