सिंधिया की जीत का रथ रोकने, प्रभात झा के नाम पर मंथन

bjp-may-field-prabhat-jha-against-scindia

भोपाल। गुना-शिवपुरी सीट पर सिंधिया परिवार के प्रत्याशी को घेरने के लिए इस बार भाजपा इस सीट से पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं राज्यसभा सदस्य प्रभात झा पर दांव खेल सकती है। ग्वालियर-चंबल संभाग की तीन सीटों पर प्रत्याशी घोषित होने के बाद अब गुना सीट पर पार्टी का मंथन जारी है।

गुना-शिवपुरी सीट को लेकर इस बार सियासी गलियारों में ऐसी अटकलें हैं कि कांग्रेस की ओर से सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया विदिशा या इंदौर सीट से चुनाव लड़ सकते हैं और इस सीट से वे अपनी पत्नी प्रियदर्शनी राजे सिंधिया को मैदान में उतार सकते हैं। कुछ समय से प्रियदर्शनी राजे गुना-शिवपुरी संसदीय क्षेत्र में सक्रिय भी हैं। वहीं इस सीट पर सिंधिया परिवार के प्रत्याशी को घेरने के लिए भाजपा पूरी रणनीति बना रही है। पार्टी को इंतजार है तो सिर्फ कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी घोषित होने का। ग्वालियर-चंबल संभाग की तीन सीटों पर भाजपा ने मुरैना से केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर, ग्वालियर से महापौर विवेक नारायण शेजवलकर एवं भिंड से संध्या राय को उम्मीदवार बनाया है। अंचल की सिर्फ एक सीट गुना-शिवपुरी शेष बची है। जहां पर अभी तक प्रत्याशी घोषित नहीं किया गया है।

पार्टी सूत्रों की मानें तो इस सीट से भाजपा राज्यसभा सदस्य प्रभात झा को उम्मीदवार बना सकती है। प्रभात झा लंबे समय से पार्टी की ओर से गुना-शिवुपरी के प्रभारी भी हैं और अपनी सक्रियता बनाए हुए हैं। पार्टी की रणनीति है कि सिंधिया परिवार को घेरने के लिए किसी बड़े चेहरे पर दांव खेला जाए। हालांकि प्रभात झा भी गुना-शिवपुरी से चुनाव लडऩे का पूरा मन बना चुके हैं, बस इंतजार पार्टी से हरी झंडी मिलने का है। वैसे पार्टी इस सीट से केंद्रीय मंत्री उमा भारती को चुनाव लडऩा चाह रही थी, लेकिन उमा भारती ने इस बार किसी भी सीट से चुनाव न लडऩे की घोषणा की है। गुना-शिवपुरी लोकसभा सीट से झा के अलावा गुना से पूर्व जिलाध्यक्ष हरी सिंह यादव,पिछोर से विधानसभा चुनाव लड़े प्रीतम सिंह लोधी,पूर्व विधायक बिरथरे एवं पूर्व डीआईजी हरी सिंह यादव भी टिकट मांग रहे हैं।