यूरिया की कालाबाजारी के विरोध में भाजपा विधायकों ने विधानसभा तक निकाला पैदल मार्च

भोपाल। मध्यप्रदेश विधानसभा के शीतकालीन सत्र का आज बुधवार को दूसरा दिन है। आज सदन में कमलनाथ सरकार अनुपूरक बजट पेश करेगी। बताया जा रहा है कि सरकार 23 हजार करोड़ रुपए का अनुपूरक बजट पेश कर सकती है। यह मध्यप्रदेश सरकार का सबसे बड़ा अनुपूरक बजट होगा। वहीं, उम्मीद की जा रही है कि शीतकालीन सत्र का दूसरा दिन हंगामे से भरा रहेगा। विपक्ष ने कई मुद्दों पर की सरकार को घेरने की तैयारी में है। 

प्रदेश में यूरिया संकट के विरोध में बुधवार को भाजपा विधायकों ने पैदल मार्च निकाला। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिहं चौहान, नेता प्रतिपक्ष गोपाल भार्गव, पूर्व मंत्री नरोत्तम मिश्रा, विश्वास सारंग, कृष्णा गौर, मालिनी गौर समेत सभी भाजपा विधायक ऐप्रन पहनकर किसानों और कार्यकर्ताओं के साथ बिड़ला मंदिर से पैदल मार्च निकालते हुए विधानसभा तक पहुंंचे। यहां भाजपा विधायकों ने कमलनाथ सरकार के खिलाफ नारेबाजी लगाते हुए यूरिया की कालाबाजारी बंद करने और किसान कर्जमाफी की मांग की है।  आज सदन में भी इसी मुद्दे को लेकर हंगामा होने के आसार हैं। सात दिवसीय सत्र के दौरान पांच बैठके होंगी और हर दिन भाजपा विधायक अलग-अलग मुद्दों पर बिड़ला मंदिर के सामने एकत्र होकर पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचेंगे। आज 18 दिसंबर को किसानों को यूरिया की कमी, अन्य समस्याओ पर पैदल मार्च निकालने के बाद 19 दिसंबर को युवाओं को बेरोजगारी भत्ता नहीं मिलने, 20 दिसंबर को प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी, उसका काम धीमा करने और 23 दिसंबर को रेत-शराब माफिया के विरोध में विधायक पैदल मार्च करते हुए विधानसभा पहुंचेंगे।