लोकसभा स्पीकर तक पहुंचेगा बीजेपी सांसद धुर्वे की जाति का मामला

BJP-MP-Dhurve-caste-case-will-reach-Lok-Sabha-Speaker

भोपाल। भाजपा सांसद ज्योति धुर्वे का जाति प्रमाण पत्र  निरस्त होने के बाद छानबीन समिति के अनुशंसा के आधार पर बैतूल कलेक्टर ने राज्य सरकार से कार्रवाई के लिए चि_ी भेजी है। कलेक्टर ने संसदीय कार्य विभाग को भेजे पत्र में कहा है कि सांसद ज्योति धुर्वे ने जिस जाति प्रमाण पत्र के आधार पर अनुसूचित जनजाति वर्ग के लिए आरक्षित सीट से चुनाव लड़ा था,  वह अमान्य हो चुका है। समिति की सिफारिशों के आधार पर कार्रवाई करना है। 

बैतूल कलेक्टर तरुण पिथौड़े ने प्रमुख सचिव संसदीय कार्य विभाग को बैतूल सांसद की सदस्यता निरस्त करने के लिए आगामी कार्रवाई के लिए लिखा है। खास बात यह है कि उच्च स्तरीय छानबीन समिति की अनुशंसा की रिपोर्ट मिलते ही कलेक्टर ने बैतूल सांसद ज्योति धुर्वे की जाति से जुड़े सभी तथ्य रिपोर्ट के साथ भेज दिए हैं। अब संसदीय कार्य विभाग लोकसभा अध्यक्ष को सांसद की सदस्यता के संंबंध में पत्र भेजेगा। हालांकि अभी संसदीय कार्य विभाग ने कलेक्टर के पत्र पर कोई कार्रवाई नहीं की है। 

उल्लेखनीय है कि छानबीन समिति ने सांसद ज्योति धुर्वे द्वारा जाति से संबंधित पेश किए गए दस्तावेजों के आधार पर उन्हें अनुसूचित जनजाति का नहीं माना। धुर्वे अपने पति की जाति का प्रमाण पत्र समिति के समक्ष पेश करती रहीं। जबकि समिति द्वारा उनके पिता की जाति से जुड़े दस्तावेज बुलाए थे, वे पिता की जाति से जुड़ा एक दस्तावेज भी समिति के सामने पेश नहीं कर पाईं। इसके आधार पर समिति ने ज्योति धुर्वे  का जाति प्रमाण पत्र अमान्य कर दिया था।