BJP-plotting-to-deny-LS-ticket-to-Sumitra-from-Indore

भोपाल। मध्य प्रदेश की हाईप्रोफाइल इंदौर लोकसभा सीट पर सियासत तेज हो गई है। वर्तमान में यहां से सुमित्रा महाजन (ताई) सांसद और लोकसभा स्पीकर हैं। लेकिन इस बार उनके चुनाव लड़ने पर बीजेपी और कांग्रेस में राजनीति हो रही है। कांग्रेस का आरोप है कि बीजेपी ताई को यहां से इस बार टिकट देने के मूड में नहीं है। वह उनके खिलाफ टिकट नहीं देने की योजना बना रहे हैं। यह बयान उस समय आया है जब बीजेपी के विरष्ठ नेता सत्यनारायण सत्तन ने यह ऐलान किया था कि अगर सुमित्रा महाजन को टिकट मिलता है तो वह निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। 

दरअसल, हाल ही में सत्यनारायण सत्तन ने बड़ा बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि अगर सुमित्रा महाजन को बीजेपी टिकट देती है तो वह यहां से निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। इस बयान के बाद ताई ने सत्तन से मुलाकात की थी। जिसे के बाद उनके सुर बदल गए थे। ताई के बाद बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रभात झा ने सत्तन से मुकालत की। जिसे बाद वह दोबार अपने पुराने बयान पर अटल हैं कि ताई को टिकट मिलन की स्थिति में वह निर्दलीय चुनाव लड़ेंगे। जब झा से अस बारे में चर्चा की गई तो उन्होंने साफतौर पर उनकी मुलाकात को सियासत से जोड़ने पर खंडन किया। उन्होंने कहा कि सत्तन मेरे बड़े भाई जैसे हैं मैं उनसे व्यक्तिगत मुलाकात करने आया था न कि किसी राजनीतिक एजेंडे पर बात करने। उनकी मुकाकात के बाद कांग्रेस के नरेंद्र सलूजा ने सोशल मीडिया पर कई गंभीर आरोप लगे थे। सलूजा भी इंदौर से के रहने वाले हैं। 

उन्होंने झा और सत्ता की मुलाकात पर सवाल उठाते हुए कहा है कि यदि ताई चुनाव लड़ेंगी तो में निर्दलीय चुनाव लड़ूँगा यह बयान देने वाले भाजपा के वरिष्ठ नेता सत्तन गुरु के घर ताई सुलह बैठक के लिये पहुँची।सारा मामला सुलझाया। लेकिन अचानक प्रभात झा ताई के बाद सत्तन गुरु के घर पहुँचे और अब सत्तन गुरु फिर कह रहे है कि यदि ताई लड़ी तो में चुनाव लड़ूँगा। उनका कहना है कि इसका मतलब है कि बीजेपी में कोई चाहते है कि ताई को टिकट न मिले। उन्होंने कहा कि ये एक तरह से सत्तत को बहका कर ताई के खिलाफ साजिश की जा रही है।