भोपाल।

प्रदेश की कमलनाथ सरकार द्वारा विवादों में घिरी दीपिका स्टारर फिल्म ‘छपाक’ को टैक्स फ्री करने के बाद बखेड़ा खड़ा हो गया है। बीजेपी ने फिल्म को टैक्स फ्री किए जाने पर सवाल उठाए है।बीजेपी का आरोप है कि राजनैतिक तौर पर यह फैसला लिया गया है।बता दे कि दीपिका के जेएनयू जाने के बाद से ही बीजेपी नेता इस फिल्म का जमकर विरोध कर रहे है।

BJP प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल का कहना है कि सीएम कमलनाथ फ़िल्म को टैक्स फ्री करने के बजाय तेजाब पीड़ित महिलाओं का इलाज कराते। उनको कानूनी सहायता देते. आरोपी को पकड़ते ,आर्थिक रूप से आत्मनिर्भर बनाने के लिए सरकारी मदद देते लेकिन केवल और केवल राजनीतिक तौर पर टैक्स फ्री करने का निर्णय लिया है क्योंकि दीपिका पादुकोण जेएनयू पहुँची थी।

अग्रवाल ने आगे कहा कि  प्रदेश में खाली खजाने का रोना रोने और केंद्र पर पैसा नही देने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस फ़िल्म को टैक्स फ्री करके और आइफा अवार्ड्स को आयोजित करवा के क्या हासिल कर रही है। छपाक फ़िल्म का बहिष्कार देश की जनता कर रही है तो उसे टैक्स फ्री कर रही है क्योंकि यह जनता की सोच के आधार पर नही, मार्क्स मैकाले से प्रेरणा प्राप्त कर रही है।

बता दे कि सीएम कमलनाथ ने फिल्म को टैक्स फ्री करने करने की जानकारी ट्वीट करके भी दी। सीएम कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा है कि दीपिका पादुकोण अभिनीत एसिड अटैक सर्वाइवर पर बनी फ़िल्म “छपाक “ जो 10 जनवरी को देश भर के सिनेमाघरों में रिलीज़ हो रही है, को मध्यप्रदेश में टैक्स फ़्री करने की घोषणा करता हूं।यह फ़िल्म समाज में एसिड पीड़ित महिलाओं को लेकर एक सकारात्मक संदेश देने के साथ-साथ उस पीड़ा के साथ आत्मविश्वास, संघर्ष, उम्मीद , और जीने के जज़्बे की कहानी पर आधारित है। ऐसे मामलों में समाज की सोच में बदलाव लाने के संदेश पर आधारित है।