लोकसभा चुनाव खत्म होते ही एमपी में फिर सहयोग निधि वसूलने की तैयारी में BJP

bjp-will-re-start-the-recovery-of-cooperation-fund-8-crore-target-madhypradesh

भोपाल।

लोकसभा चुनाव खत्म होते ही बीजेपी एक्शन मोड में आ गई है। पार्टी ने फिर से आजीवन सहयोग निधि वसूलने के लिए अभियान चलाने का फैसला किया है। इसके लिए सभी जिलाध्यक्षों को निर्देश दिए जा रहे हैं कि हर हाल में लक्ष्य पूर्ति की जाए।वही बड़े नेताओं को भी इसमें शामिल होकर जल्द से जल्द लक्ष्य पूर्ति में जुटने को कहा गया है।बता दे कि पार्टी का लक्ष्य आठ करोड़ का है, लेकिन अभी तक केवल तीन करोड़ ही जुटा पाए है।पार्टी के सामने बंपर जीत के बाद पांच करोड़ रुपए जुटाने बड़ी चुनौती होगी। हालांकि बीजेपी इसे पूरा कर पाती है या नही यह तो आने वाला वक्त ही बताएगा।

दरअसल, पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिवस पर शुरू किए गए आजीवन सहयोग निधि अभियान के तहत दिए गए लक्ष्य को एमपी में बीजेपी अब तक पूरा नही कर पाई है।एक बार पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के निधन के कारण अभियान रोकना पड़ा तो दूसरी बार विधानसभा चुनाव के बाद अभियान चलाया जो कि पूरा तरह सफल नही हो पाया। इसके बाद लोकसभा चुनाव की आचार संहिता लग गई। अब चुंकी चुनाव भी सम्मपन्न हो चुके है और आचार संहिता ही हट चुकी है, ऐसे में पार्टी ने फिर से इस अभियान को प्रदेशभर में चलाने का फैसला किया है।

इसके लिए सभी जिलाध्यक्षों को इस बारे में निर्देश दिए जा रहे हैं कि हर हाल में लक्ष्य पूर्ति की जाए।वही हर जिले में एक बड़े नेता को बागडोर सौंपी जा रही है। पार्टी ने इसके लिए एक हजार और पांच हजार रुपए के कूपन तैयार किए हैं। कूपन के जरिए सदस्यों से शुल्क लिया जाएगा। पांच हजार से अधिक की राशि देने वाले से चेक लिया जाएगा। कूपन व चेक प्रदेश भाजपा कार्यालय भेजा जाएगा। वहां से राष्ट्रीय कार्यालय को भेजा जाएगा।इसके अलावा नेट बैंकिंग के जरिए भी सहयोग निधि की राशि जमा कराई जाएगी ।