BJP नेता की हत्या का राजनीतिक लाभ ले रहे शिव��ाज, पहले वायरल तस्वीर देख लेते-मंत्री सिलावट

bjp-worker-murder-minister-tulsi-silawat-targets-shivraj--said-first-check-viral-photo-of-accused-then-speak

भोपाल/इंदौर।

इंदौर में हुई भाजपा नेता की हत्या को लेकर प्रदेश में जमकर सिसासत गर्माई हुई है।खबर है कि देर देर रात हत्या में फरार आरोपी कांग्रेस नेता अरुण शर्मा को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।वही आरोपी की बीजेपी नेताओं से कनेक्शन की बात कही जा रही है, इसको लेकर सोशल मीडिया पर एक फोटो भी तेजी से वायरल हो रहा है। जिसको लेकर कांग्रेस बीजेपी का जमकर घेराव कर रही है। इसी बीच भाजपा नेता की हत्या के आरोपों में घिरे स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट का बड़ा बयान सामने आया है।मंत्री ने पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज पर हत्या पर राजनीति करने का आऱोप लगाया है। 

    मंत्री का कहना है कि  शिवराज को बयान देने से पहले वायरल हो रहे फोटो तो देख लेने चाहिए थे। शिवराज और भाजपा वाले हत्या जैसी दुःखद घटना पर भी राजनीति लाभ लेने की कोशिश कर रहे हैं। हम लोगों की ऐसी आदत नहीं, लेकिन इन्होंने आरोप लगाया है तो जवाब देना पड़ रहा है कि आरोपी कांग्रेस नहीं, भाजपा से जुड़ा है और पूरे लोकसभा चुनाव के दौरान भाजपा के ही प्रत्याशी शंकर लालवानी का प्रचार करता रहा।शिवराज ऐसे मौके पर राजनीति कर रहे हैं, मैं उनसे दुखी हूं।

सिलावट का कहना है कि  घटना दुःखद है और मेरी संवेदना मृतक के परिवार के प्रति है। पहली तो बात तो यह है कि घटना के पीछे किसी तरह का राजनीतिक विवाद नहीं है। दूसरा गोली चलाने का आरोपी पंकज शर्मा न तो मेरा समर्थक है, न ही कांग्रेस से जुड़ा है। उलटे वह तो मेरा विरोधी और भाजपा का पदाधिकारी बताया जा रहा है। लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस प्रत्याशी के साथ लगातार प्रचार और जनसंपर्क करवाता रहा। ऐसे में अगर राजनीतिक चश्मे से देखे तो घटना में शामिल दोनों पक्ष भाजपा से जुड़े हैं। पूर्व मुख्यमंत्री यदि इसे राजनीतिक हत्या बता रहे हैं तो फिर यह भाजपा के दो गुटों में वर्चस्व को लेकर हुई विवाद होना चाहिए।  हम हिंसा और किसी जान पर राजनीति नहीं करते।

शिवराज पर मानहानी का दावा ठोकेगी कांग्रेस

मामले पर कमलनाथ के मीडिया समन्वयक कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने बयान जारी कर कहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री चौहान ने स्वास्थ्य मंत्री पर आरोप लगाया। मामले पर कांग्रेस की ओर से उन्हें मानहानि का नोटिस जारी किया जा रहा है। साथ ही चौहान ने कहा है कि मृतक ने भाजपा को वोट डाला था इसलिए हत्या हुई है। मतदान प्रक्रिया गोपनीय होती है। भोपाल में बैठे शिवराज को कैसे पता चला कि मृतक ने भाजपा को वोट किया। इस मामले पर भी शिकायत की जाएगी।

बवाल के बाद कांग्रेस ने वायरल की थी फोटो

इस घटनाक्रम के बाद जमकर बवाल मच गया था। लोग सड़कों पर उतरकर प्रदर्शन करने लगे, बीजेपी ने भी सरकार का जमकर घेराव किया था, जिसके बाद पलटवार के रुप में सोमवार को कांग्रेस ने एक फोटो जारी किया था जिसमें आरोपियों पंकज शर्मा को कांग्रेस नहीं, भाजपा का कार्यकर्ता बताया गया है।फोटो भाजपा उम्मीदवार शंकर लालवानी के साथ की है जब वे सांवेर जनसम्पर्क करने पहुंचे, जिसमें पंकज भी शामिल हुआ था और उसी ने लालवानी का स्वागत किया था। यह भी बताया जा रहा है कि पंकज युवा मोर्चा का पदाधिकारी भी रह चुका है।

शिवराज ने सिलावट को दी थी चेतावनी

इससे पहले शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और सांवेर के कांग्रेस विधायक तुलसी सिलावट को चेतावनी दी कि वो हिंसा और हत्याओं को खेल मध्य प्रदेश की धरती पर न शुरू करें। एमपी हमेशा से ही शांति का टापू रहा है। ऐसे में जो भी लोग इस हत्या में शामिल हैं, उन्हें पुलिस तत्काल गिरफ्तार करे। अगर ऐसा नहीं होगा तो भाजपा प्रदेश सरकार और प्रशासन के खिलाफ सड़कों पर उतरेगी। इतना ही नहीं भाजपा कार्यकर्ता की हत्या से गुस्साए शिवराज सिंह ने कांग्रेस पर बड़ा आरोप लगाते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार से बौखलाई कांग्रेस मध्य प्रदेश को पश्चिम बंगाल बनाने पर तुली है। हार से बौखलाकर कांग्रेस का हिंसा का सहारा ले रही है। इतना नहीं शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि, सांवेर के पालिया गांव में हमारे कार्यकर्ता को कांग्रेस नेता ने सिर्फ इसलिए गोली मार दी, क्योंकि उन्होंने भाजपा को वोट दिया था और पार्टी के लिए काम किया था।