दलित युवक को जिंदा जलाने के मामले में सरकार के खिलाफ भाजपा का जंगी प्रदर्शन का एलान

भोपाल। सागर में अनुसूचित जाति के एक युवक को जिंदा जलाए जाने के मामले में सियासत जारी है। भाजपा लगातार इस मामले में प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर लापरवाही बरतने और मामले को दबाने के आरोप लगाती रही है। वहीं अब भाजपा इस मुद्दे को लेकर सडक़ पर उतरने की तैयारी में है। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मृतक युवक धनप्रसाद के पीडि़त परिवार को न्याय दिलाने के लिए जंगी प्रदर्शन का एलान किया है।

सागर में दलित युवक का जिंदा जलाने के मामले में अब भाजपा ने सडक़ पर उतरने की तैयारी कर ली है। मंगलवार को सागर में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में जंगी प्रदर्शन कर सरकार से पीडि़त परिवार को न्याय की मांग की जाएगी। शिवराज सिंह चौहान ने इस बारे में कहा कि सागर में दलित नौजवान धनप्रसाद अहिरवार को जिंदा जला दिया गया। अकेला धनप्रसाद का परिवार उस मोहल्ले में रहता था जिसे कई दिनों से परेशान किया जा रहा था। दलित नौजवान ने सरकार से बार-बार गुहार लगाई, लेकिन उसे सुरक्षा नहीं मिली और अंतत: बदमाशों के हौसले इतने बढ़ गए कि घर में घुसकर उसको जिंदा जला दिया।

शिवराज ने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि सरकार ने ढंग से ईलाज की व्यवस्था नहीं की। भाजपा के दबाव में सरकार इलाज के लिए भोपाल लाई और फिर अनुसूचित जनजाति आयोग के दबाव में दिल्ली ले गई। शिवराज ने कमलनाथ सरकार पर कटाक्ष करते हुए कहा कि इस सरकार में सुरक्षा नहीं, इलाज की व्यवस्था नहीं। घटना को दबाने की कोशिश में धन प्रसाद अहिरवार की जिंदगी चली गई। इस सरकार में ऐसे कई धनप्रसाद अहिरवार प्रताडि़त किए जा रहे है। अन्याय की अति और जुर्म की पराकाष्ठा है। इसलिए भाजपा 28 जनवरी को दोपहर 12 बजे इस ज़ुल्म के खिलाफ सागर में जंगी प्रदर्शन कर रही है। उन्होंने कहा कि यह जंगी प्रदर्शन अन्याय के खिलाफ एक शंखनाद है। शिवराज ने प्रदर्शन में बड़ी संख्या में आम नागरिकों और कार्यकर्ताओं से शामिल होने की अपील की है।