प्रापर्टी विवाद को लेकर भाई ने की बहन की हत्या, पिता के मकान पर कब्जे से था नाराज़

भोपाल। छोला मंदिर थाना इलाके में बीती सात अक्टूबर की रात को गला दबाकर बहन की हत्या करने के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। वारदात को मृतका के सगे भाई ने प्रापर्टी विवाद के चलते अंजाम दिया था। आरोपी ने पुलिस को बताया कि बहन ने मकान में कब्जा कर रखा था। पिता के साथ बदसलूकी करती थी। उसे तथा उसके छोटे भाई को घर से निकाल दिया था। पिता से मिलने के लिए भी घर में नहीं घुसने देती थी। इन्ही तमाम बातों से परेशान आकर उसने बहन की गला घोंटकर हत्या की थी। बाद में उसे आत्महत्या दर्शाने के लिए दुपट्टे के फंदे पर लटकाने का प्रयास किया। इसके बाद में शव को घर में छोड़कर फरार हो गया।

एसआई राजेश तिवारी के मुताबिक राधा साहू पिता नन्नुलाल साहू (35) गयानंद स्कूल के पास छोला मंदिर थाना क्षेत्र में रहती थी। वह गृहणी थी, उसकी शादी करीब 12 साल पहले बैरसिया इलाके में हुई थी। जिसके बाद में उसने पति से तलाक ले लिया और पिछले करीब पांच सालों से पिता के घर ही रह रही थी। उसके 75 वर्षीय पिता इन दिनों गंभीर रूप से बीमार चल रहे हैं। एक दिन हत्या के एक दिन पहले ही उनकी अस्पताल से छुट्टी हुई थी। नन्नुलाल का बड़ा बेटा रेवा राम साहू पिता को हर रोज़ शाम के समय में खाना देने के लिए उनके पास जाता था। बहन उसे घर में नहीं घुसने देती थी, इसलिए खाना पिता को घर से कुछ दूर बुलाकर देकर चला जाता था। राधा ने पिता के मकान पर कब्जा कर रखा है। प्रापर्टी विवाद के चलते वह कई बार भाईयों की थाने में शिकायत भी कर चुकी थी। उसने कोर्ट में भी कब्जे को लेकर एक केस लगा रखा था। इतना ही नहीं आए दिन वह पिता से बदसलूकी करती थी। उनका ध्यान नहीं रखती थी। इन तमाम बातों को लेकर कल भाई और बहन में विवाद हुआ था। पुलिस का कहना है कि इन्ही कारणों के चलते रेवाराम ने बीते सात अक्टूबर को बहन की दुपट्टे से गला घोंटकर हत्या कर दी। इसके बाद में उसे फांसी दर्शाने के लिए घर के एक कमरे में लगे एंगल पर शव को लटकाने का प्रयास किया। हालांकि इसमें नाकाम होकर संदेही फरार हो गया। तब पिता ने शिव शक्ति नगर में रहने वाले छोटे बेटे विनोद कुमार साहू की मौत की सूचना फोन पर दी। उसने पुलिस को वारदात के संबंध में बताया था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए रवाना कर दिया। हत्या के बाद पुलिस ने रेवाराम को हिरासत में लिया था। तब से ही पुलिस को वारदात की सही जानकारी नहीं दे रहा था। लगातार गुमराह कर रहा था। अब उसने जुर्म को स्वीकार किया। तब बीती रात पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।

पिता ने किया था बेटे को बचाने का प्रयास

महिला के पिता ने हत्या करने की बात वारदात के बाद स्वयं कबूल कर ली थी। पिता का पुलिस से कहना था कि बेटी उसे मारना चाह रही थी, और उससे बचने के लिए उसकी हत्या कर दी। हालांकि पुलिस को पिता की कहानी पर भरोसा नहीं हो रहा था। पुलिस को संदेह था कि बेटे को बचाने के लिए पिता इस प्रकार के बयान दे रहे हैं। बारीकी से पूछताछ में हत्यारे भाई ने अपने जुर्म को स्वीकार किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here