बहन के नाबालिग प्रेमी को भाई ने उतारा मौत के घाट, अपहरण कर घटना को दिया अंजाम

मृतक मोहल्ले में रहने वाले अपनी दोस्त की बहन से फोन पर चैटिंग करता था। दोस्त ने उसे बहन से दूर रहने के लिए समझाया था। वह नहीं माना।

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। दोस्त की बहन से चैटिंग करना किशोर के लिए जानलेवा बन गया, दोस्त ने उसे मौत के घाट उतार दिया, मामला भोपाल का है, जहां बैरसिया इलाके में 17 साल के किशोर का पहले अपहरण किया गया और फिर उसे मौत के घाट उतारकर लाश गुनगा के गांव उनिदा के जंगल में फेंक दी गई, पुलिस ने लाश बरामद की और जब जांच में मामले का खुलासा हुआ यह कहानी सामने आई, पुलिस की जांच में सामने आया कि किशोर मोहल्ले में रहने वाले अपनी दोस्त की बहन से फोन पर चैटिंग करता था। दोस्त ने उसे बहन से दूर रहने के लिए समझाया था। वह नहीं माना। ऐसे में दोस्त ने 26 जनवरी को घूमने के बहाने उसका बाइक से अपहरण कर लिया। साथी के साथ मिलकर उसकी हत्या कर दी। आरोपियों ने उसके गले पर चाकू से हमला किया। इसके बाद पत्थर से सिर कुचल दिया। पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़े.. इंदौर : महिला मित्र से बात करने के विवाद में 1 छात्र की हत्या 2 अन्य छात्र घायल

मृतक इब्राहिमपुरा बैरसिया में रहने वाला 17 साल का कुलदीप कुशवाहा पिता दिनेश कुशवाहा निजी काम करता था। 26 जनवरी को घर से वह घूमने के लिए निकला था। देर रात तक वह नहीं आया। इस पर परिजन ने अपहरण का संदेह जताते हुए थाने में मामला दर्ज कराया। पुलिस को गुरुवार देर शाम उसकी लाश कलारा-उनींदा गांव के बीच जंगल में पुलिस को मिली। पुलिस ने जांच शुरू की पता चला कि कुलदीप के मोहल्ले में रहने वाला चिंटू उर्फ आनंद कुशवाहा  उसके साथ बाइक में देखा गया है। पुलिस ने चिंटू को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उसने बताया कि कुलदीप की उसने अपने साथी राजू कुशवाहा के साथ मिलकर हत्या कर दी है।

यह भी पढ़े.. प्रदेश में बोर्ड परीक्षाएं होंगी ऑफलाइन, फिलहाल 31 जनवरी से स्कूल खुलने पर भी संशय

कुछ दिन पहले ही  चिंटू ने अपनी छोटी बहन का मोबाईल जब अचानक चेक किया तो बहन के मोबाईल में कुलदीप का चेट देखकर हैरान रह गया उसने बहन को हिदायत दी की दुबारा ऐसा न हो, इसके बाद कुलदीप को हिदायत दी थी। इस पर कुलदीप ने उससे कहा था कि अकेली मेरी गलती नहीं है, तेरी बहन भी मुझे चाहती है। हम दोनों शादी कर साथ रहेंगे। यह बात चिंटू को इतना नागवार गुजरी कि उसने कुलदीप की हत्या की साजिश रच डाली, लेकिन आखिरकार पुलिस ने मामले का खुलासा कर ही दिया।