मंधाता विधानसभा सीट से फूंका उपचुनाव का बिगुल, कमल पटेल ने कही ये बात

भोपाल, डेस्क रिपोर्ट। कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल (kamal patel) ने खंडवा जिले की मंधाता विधानसभा सीट के उपचुनाव के लिए शंखनाद किया। यह सीट नारायण पटेल के कांग्रेस से इस्तीफा देने से रिक्त हुई है। जनसभा को संबोधित करते हुए मंत्री कमल पटेल के तेवर कांग्रेस और कमलनाथ पर हमलावर रहे, उन्होंने सिंधिया समर्थक मंत्रियों और विधायकों के साहस की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हीं के कारण प्रदेश अराजकता से मुक्त हो सका।

खंडवा जिले के मंधाता विधानसभा क्षेत्र के किल्लोद ब्लॉक में जनसभा को संबोधित करते हुए कमल पटेल कांग्रेस पर जमकर बरसे। उन्होंने कांग्रेस को धोखेबाज पार्टी बताते हुए उपचुनाव में जनता से भाजपा के पक्ष में मतदान की अपील की। सभा में कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए पूर्व विधायक नारायण पटेल मौजूद थे। कमल पटेल ने कहा कांग्रेस ने भ्रष्टाचार, गरीबी और अव्यवस्था को बढ़ावा दिया, उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने 50 साल देश पर राज किया लेकिन गांवों का विकास नहीं होने दिया। उन्होंने कहा कि गांधीजी ने कहा था भारत गांव में रहता है, कांग्रेस ने उनके नाम पर वोट तो लिए लेकिन विकास नहीं होने दिया। कमल पटेल ने कहा कि देश जब आजाद हुआ तब 20 प्रतिशत जनता शहरों में रहती थी और 80 प्रतिशत आबादी गांव में थी। कांग्रेस ने गांव का विकास नहीं किया तो 10 प्रतिशत जनता और शहरों में आ गई 70 प्रतिशत गांव में ही रहे, लेकिन बजट में शहरों के विकास होते रहे गांवों के नहीं। इसलिए जरा सी बारिश होती गांव में बैलगाड़ी, लोग और जानवर कीचड़ में फंस जाते थे। 1998 में अटल बिहारी वाजपेई की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री सड़क योजना और इसके बाद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री सड़क और खेत सड़क योजना शुरू की जिससे आज गांव गांव में संपर्क हो पा रहा है। बिजली के मामले में भी कॉन्ग्रेस के समय केवल 2990 मेगावाट की क्षमता थी, जो अब बढ़कर 18000 मेगावाट हो चुकी है, गांवों में अब पूरे समय बिजली मिल रही है।

कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस कर्जमाफी, बेरोजगारी भत्ते का वादा कर सरकार में तो आ गई लेकिन वादे पूरे नहीं किए। कमल पटेल ने कहा कि कांग्रेस में वादे पूरे करने की परंपरा ही नहीं है, गरीब हटाओ, बेरोजगारी मिटाओ के नारे तो दिए लेकिन किया कुछ नहीं। कमलनाथ ने भी कांग्रेस की इसी परंपरा को निभाया लेकिन जनता से जुड़े विधायकों का क्षेत्र में जाना मुश्किल हो गया। कांग्रेस ने सिंधिया जी से भी खूब वादे कराए लेकिन पूरे नहीं किए तो उन्होंने सड़क पर उतरने की बात की, इसपर कमलनाथ ने कहा कि उतर जाओ कोई वादा पूरा नहीं होगा। कमल पटेल ने सिंधिया समर्थक मंत्रियों और विधायकों के साहस की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्हीं के कारण प्रदेश को कांग्रेस के कुशासन से मुक्ति मिल सकी है। मंत्री कमल पटेल ने प्रदेश की तरक्की और विकास के लिए एक बार फिर नारायण पटेल को जिताने का आह्वान करते हुए कहा कि भाजपा ने प्रदेश को अग्रणी राज्य बनाया है इसे जारी रखने के लिए एक बार फिर कमल खिलाना जरूरी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here